ब्लॉग क्या है और इस से पैसे कैसे कमा सकते हैं | Blog Meaning in Hindi

अगर आप सोच रहे है कि आपको blog meaning in hindi या blog kya hai नहीं पता है तो शायद ऐसा सोचना गलत हो सकता है क्योंकि आपको कही न कही ब्लॉग के बारे में पता हैं।

अब आप सोचेंगे कि आप तो जानते ही नहीं है कि ब्लॉग क्या होता है और कैसा होता है? तो आपको कैसे पता हैं ? आपको पता है क्योकि आपने इन्टरनेट का प्रयोग करते हुए कभी न कभी ब्लॉग देखा या पढ़ा जरूर हैं ।

blog-meaning-in-hindi

इस पोस्ट को पढने के बाद आपको मेरी बात पर यकीन आ जाएगा और आप कहेंगे कि हाँ मै तो पहले से ही ब्लॉग के बारे में जानता था।

वास्तव में कहे तो आप जो अब पढ़ रहे है यह भी एक ब्लॉग में ही पढ़ रहे हैं।

तो आइये इस पोस्ट को पढ़ते हुए हिंदी में ब्लॉग blog in hindi के बारे में जानते हैं। ब्लॉग के बारे में जानने से पहले थोडा जान लेते है इस ब्लॉग शब्द का प्रारंभ कब और किसने किया था?

ब्लॉग का इतिहास संक्षिप्त में (A brief history about blog in hindi)

सन् 1994 में Swarthmore कॉलेज के एक छात्र जिसका नाम जस्टिन था उसने पहला ब्लॉग बनाया था Links.net के नाम से। हालाँकि उस समय इस ब्लॉग को एक ब्लॉग की तरह न देखकर सिर्फ एक होमपेज माना गया था।

सन् 1997 में जोर्न बर्गेर नाम के एक ब्लॉगर ने weblog शब्द का प्रयोग इन्टरनेट से वेब को लॉगिंग करने के लिए किया था।

प्रोग्रामर पीटर मेरहोल्ज़ ने सन् 1999 में “weblog” का संक्षिप्त रूप “blog” उपयोग किया, तभी से ब्लॉग शब्द बहुत अधिक प्रचलन में आना शुरू हो गया।

ब्लॉग क्या है ? | blog meaning in hindi

ब्लॉग एक तरह की वेबसाइट है जहाँ पर कंटेंट reverse chronological order में स्थित होता हैं। Reverse chronological order का मतलब है कि ब्लॉग में नया कंटेंट पहले दिखाई देता है और पुराना उसके बाद।

ब्लोग्स आम तौर पर किसी अकेले मनुष्य या कुछ लोगो के एक छोटे ग्रुप द्वारा सूचना प्रदान करने के लिए बोल-चाल से संबंधित रूप में चलाये जाते हैं।

कोई भी व्यक्ति जो किसी तरह का विशेष ज्ञान रखता हैं और वह उस ज्ञान को दूसरो तक पहुँचाना चाहता हैं अपना एक ब्लॉग बना सकता है और लोगो को जानकारी से अवगत करा सकता हैं।

एक ब्लॉग को बनाने के लिए हमे किसी प्रकार की coding language सीखने की जरुरत नहीं हैं हम आसानी से blogger या wordpress या ऐसे ही और CMS (Content Management System) की सहायता से ब्लॉग बना सकते हैं।

ब्लॉग पोस्ट क्या है?

ब्लॉग पोस्ट आपकी वेबसाइट या ब्लॉग का ही एक वेब पेज होता है जिस पर एक विशेष जानकारी दी गयी हो।

उदहारण के लिए – मान लो आप एक hindi kavita blog अपनी वेबसाइट पर शुरू करते हैं। इस hindi kavita blog में आप हिंदी में बादलो के ऊपर कविता लिखते हैं तो ऐसे लिखी गयी कविता एक blog post होगी जो हिंदी कविता ब्लॉग में लिखी गयी हैं।

ब्लॉग पोस्ट अलग-अलग कीवर्डस द्वारा हमे सर्च इंजन पर रैंक कराने में मदद करती हैं। अगर आप एक कीवर्ड जैसे hindi blog के लिए पोस्ट लिखते हैं तो हमारी ब्लॉग पोस्ट इसी कीवर्ड hindi blog के लिए रैंक करके हमारे लिये ज्यादा से ज्यादा पाठक लायेंगी।

ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं? (Type of blog in hindi)

अगर आप कोई hindi blog बना रहे है तो आप सोच सकते है कि क्या अकेला इसी प्रकार का ही ब्लॉग बनाया जा सकता या और भी तरह के ब्लॉग बनाये जा सकते हैं।

हम किसी भी प्रकार का ब्लॉग बना सकते है। ब्लॉग किस तरह का है इस से फर्क नहीं पड़ता, फर्क इस से पड़ता है कि पाठक को कोनसी विशेष जानकारी प्रदान करा रहे हैं।

हम जैसी सूचना पाठको को प्राप्त कराते है उसी तरह का ब्लॉग होता हैं।

फिर भी हम आपकी सहुलयत के लिए कुछ सामान्य से ब्लॉगस के बारे में यहाँ लिख रहे है जिनके बारे में जानकर आप भी अपना hindi blog शुरू कर सकते हैं।

आइये जानते हैं पाँच प्रकार के ज्यादा प्रयोग में आने वाले ब्लोग्स के बारे में –

I. व्यक्तिगत ब्लॉग (Personal Blog)

जैसे कि इस ब्लॉग का नाम खुद ही बताता है कि यह ब्लॉग उस व्यक्ति के बारे में होता है जो इसे स्वयं चलाता हैं !

इस ढंग का ब्लॉग दुसरे ब्लोगों से बहुत हद तक अलग होता हैं क्योंकि इनमे ब्लॉगर के खुद के विचारो और विश्वास का समावेश होता हैं। इस तरह के कई सारे ब्लोग्स आपको देखने को मिल जायेंगे।

ब्लॉगिंग का यह तरीका आज भी बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हैं। इनमे ब्लॉगर अपने रोज के किर्या-कलापों और अनुभव के बारे में बताकर पाठको को पढने के लिए प्रेरित करते हैं।

व्यक्तिगत ब्लॉग सामान्यता पैसा कमाने के उद्द्श्ये से नहीं बनाये जाते है इसका मतलब ये नहीं कि ऐसे ब्लॉग पैसे नहीं कमाते। आपको इन्टरनेट पर बहुत से निजी ब्लोग्स देखने को मिल जायेंगे जो अच्छे रुपये बना रहे हैं।

II. व्यवसायिक ब्लॉग (Business Blog)

एक ब्लॉग जिसके द्वारा आप अपने व्यवसाय के बारे में जानकारी दुसरे लोगो तक पहुँचा सकते हैं वह ब्लॉग व्यापारिक या व्यवसायिक ब्लॉग कहलाता हैं।

यदि हम किसी तरह का कोई विशेष ज्ञान या उत्पाद रखते है तो उसको दुनिया को दिखाने के लिए एक business blog बनाना बेहद फ़ायदेमंद रह सकता हैं।

एक बिज़नेस ब्लॉग में जो कंटेंट होता है वो किसी विशिष्ट क्षेत्र पर केन्द्रित होता है जो उसी क्षेत्र से जुड़े ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए बनाया जाता हैं !

इस बिज़नेस ब्लॉग की सहायता से हम शुगमता से अपने उत्पाद और सेवा को पाठको को प्रस्तुत कर बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते हैं।

उदहारण के लिए, मान लो आप एक त्वचा के रोगों के डॉक्टर है जिसका एक क्लीनिक किसी शहर में है। यदि आप सोच रहे है कि कैसे क्लीनिक में मरीजों की संख्या बढाई जाये तो एक बिज़नेस ब्लॉग आपके लिए मददगार साबित हो सकता हैं।

आप अपनी कुशलता के बारे में उस ब्लॉग पर लिख सकते हैं तथा किस प्रकार के त्वचा रोगों का इलाज करने में आपको महारत हासिल है ये भी बता सकते हैं। ऐसा करना ना केवल आपका अपने क्षेत्र में नाम करेगा बल्कि आपके क्लिनिक पर आने वाले मरीजो की संख्या भी बढ़ जाएँगी।

अगर एक डॉक्टर के रूप में आपने कोई उत्पाद बनाया है तो आप उसे भी इस ब्लॉग पर लिस्ट कर सकते है जिससे कि लोग उसे खरीद सके।

तो हम देख सकते है कि कैसे एक बिज़नेस ब्लॉग हमारे ब्रांड को लोकप्रिय बना सकता है तथा हम इस से बहुत अच्छी कमाई भी कर सकते हैं।

III. सहबद्ध ब्लॉग (Affiliate Blog)

Affiliate blog एक तरह का ब्लॉग होता है जो सिर्फ प्रोडक्ट और सर्विस को बेचने के उद्देश्य से बनाया जाता हैं।

ऐसे ब्लॉगस पर हमे उत्पादों के बारे में जानकारियां मिलती है और इन उत्पादों और सेवाओ को खरीदने के लिए लिंक भी दिए जाते है। इन लिंक्स की सहायता से कोई भी यूजर दिए गये उत्पादों और सेवाओ को खरीद सकता हैं।

इस प्रकार के ब्लॉग को हम उत्पादों के बारे में review करने वाला ब्लॉग भी कहते हैं । जब आपका समीक्षा किया गया सामान कोई खरीदता है तो उस सामान की कीमत का एक हिस्सा आपको मिल जाता हैं।

हम इसको आसान भाषा में comisson ब्लॉग भी कह सकते हैं। जहाँ पर कुछ बिक्री कराने पर हमे एक comission प्राप्त होता हैं।

IV. समाचार ब्लॉग (News Blog)

आप सभी इस समाचार शब्द से पूरी तरह परिचित हैं तो आपको पता भी चल गया होगा कि समाचार ब्लॉग क्या होता हैं।

ऐसे ब्लॉग में हमे पुरे संसार में हो रही घटनाओ का विवरण लिखना होता हैं। जितनी ज्यादा हम खबरे लिखेंगे उतना ही अधिक हमे ट्रैफिक मिलेगा।

इस प्रकार का ब्लॉग हर किसी के लिए ठीक नहीं रहता है क्योंकि इसे बनाना काफी महंगा हो सकता हैं। अगर आप एक नए ब्लॉगर है जो blog meaning in hindi को अभी जानने का प्रयास ही कर रहे हैं तो आपके लिए अभी समाचार ब्लॉग बनाना ठीक नही रहेगा।

कुछ कारण हैं जिनकी बजह से एक नए ब्लॉगर को न्यूज़ ब्लॉग नहीं बनाना चाहिए। प्रथम कारण है ऐसे ब्लॉगस को बनाने में आने वाला अधिक खर्च।

दूसरा कारण है कि न्यूज़ ब्लॉग को चलाने के लिए प्रतिदिन बहुत ज्यादा कंटेंट की जरुरत होती है मतलब आपको 30, 40,50…..100 या इस से अधिक आर्टिकल्स एक दिन में लिख कर ब्लॉग पर पोस्ट करने होते हैं। तो आप समझ सकते है कितनी मेहनत का काम होने वाला हैं।

तीसरा कारण हैं इन ब्लोग्स में लिखी गयी पोस्ट अच्छे से लिखी गयी हो तथा उसमे शुद्धता का पूरा ध्यान रखा गया हो।

अगर आप समाचार ब्लॉग में होने वाला खर्चा उठा सकते हैं तथा इतनी पोस्ट लिख कर प्रबन्धन कर सकते है तो ही आप यह ब्लॉग बनाये।

V. केन्द्रित ब्लॉग (Niche Blog)

इस तरह का ब्लॉग किसी एक केन्द्रित विषय पर ही बनाया जाता हैं। हम कह सकते है कि यह विशेष विषय किसी बहुत बड़े विषय का ही एक छोटा सा अंश होता हैं।

आइये इसके बारे में एक उदहारण से समझते हैं इस प्रकार समझना सरल एवम् सहज़ होगा।

मान लो हमार एक hindi blog हैं जिसमे हम स्वास्थ्य के बारे में लिखते हैं। इस ब्लॉग में हम विभिन-विभिन प्रकार की हेल्थ समस्याओ के बारे में पाठको को अवगत कराते हैं।

कभी हम दांतों की समस्या के बारे में लिखते है, तो कभी कैंसर के बारे में, तो कभी त्वचा के रोगो के बारे में। आप देख सकते है कि हम सिर्फ एक समस्या के बारे में नहीं लिख रहे हैं कई सारी स्वास्थ्य समस्या की जानकारी हमारे ब्लॉग में हैं।

यदि हम सिर्फ इनमे से या किसी अन्य एक समस्या की जानकारी उपलब्ध करने लग जाये तो वो एक niche blog होगा। मतलब कि अगर हम कैंसर और दांतों के रोगों का समाधान ना देकर सिर्फ त्वचा के रोगों की ही बात करे तब हमारा यह hindi blog एक केन्द्रित ब्लॉग होगा।

आपको कई प्रकार के और भी ब्लॉग देखने को मिल जायेंगे पर हमने यहाँ केवल कुछ ज्यादा प्रचलित 5 ब्लॉगस के बारे में आपको जानकारी प्राप्त की हैं।

ब्लॉग और वेबसाइट में क्या अंतर हैं ? (Difference between wesbsite and blog in hindi)

i. ब्लॉग एक प्रकार की वेबसाइट है जिसे नियमित तौर पर अपडेट किया जाता है जबकि वेबसाइट को इतनी जल्दी अपडेट करने की आवश्यकता नहीं होती।

ii. वेबसाइट में एक होमपेज होता है जिस पर वेबसाइट की अधिकितर जानकारी उपलब्ध होती हैं जबकि ज्यादातर एक ब्लॉग में होमपेज वो post होती हैं जो अभी हाल ही में लिखी गयी हैं या जिस पर ज्यादा traffic आता हैं।

iii. वेबसाइट को बनाने के लिए आपको coding जरूर आनी चाहिए जबकि ब्लॉग को CMS की सहायता से सरलता से बनाया जा सकता हैं।

iv. वेबसाइट सिर्फ एक टॉपिक को ध्यान में रख कर बनी होती है जबकि ब्लॉग में कई सारे टॉपिक भी हो सकते हैं।

v. वेबसाइट को रैंक कराने के लिए ज्यादा SEO करने की जरुरत नहीं होती है जबकि ब्लॉग को रैंक करने के लिए बहुत अधिक SEO करना पड़ता हैं।

vi. वेबसाइट को आम तौर पर व्यवसाय के लिए बनाया जाता हैं जबकि ब्लॉग कोई भी अपने व्यक्तिगत प्रयोग के लिए भी बना सकता हैं।

ब्लॉग कैसे बनाये | blog kaise banaye (How to make blog in hindi)

ब्लॉग के बारे में जानने के बाद आख़िरकार हम यह जानने वाले हैं कि ब्लॉग कैसे बनाए। हमारे लिए ब्लॉग बनाना बहुत आसान हो सकता हैं यदि हमे कुछ मूलभूत बातो के बारे में जानकारी हो।

मै इस ब्लॉगिंग क्षेत्र में कई सालो से लगा हुआ हूँ इसलिए मै आपको साधारण शब्दों में बताऊंगा कि blog kaise banaye.

तो आइये समय ना व्यर्थ करते हुए जानते है कि एक अच्छा ब्लॉग कैसे बनाये।

1. अपने ब्लॉग के लिए सही विषय (Niche) का चुनाव करे।

एक ब्लॉग की शुरुआत करने से पहले ये जरूरी हो जाता है कि हम ब्लॉग बनाने के लिए एक विषय या niche चुन ले।

Niche का मतलब होता है कोई एक category जिस पर आप केन्द्रित होकर अनुसंधान कर सके तथा आसानी से लिख सके । अगर आप टेक्नोलॉजी के बारे में ज्ञान रखते है तो इस विषय पर ही लिखना चुने। अगर आपने लिखने के लिए कोई अनजान कैटेगरी चुन ली जिसके बारे में आपको जानकारी नहीं हैं तो आपके लिए लिखने में कठ्नाई होगी।

Niche/Category चुनने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें –

a) हमे हमेशा उसी विषय को ध्यान में रखकर अपना ब्लॉग बनाना चाहिए जिसमे हमे दिलचस्पी हो। अगर आप कोई ऐसा विषय लिखने के लिए चुन लेते है जिसको आप पसंद नहीं करते तो आपका ब्लॉग ज्यादा सफल नहीं हो सकेगा।

यदि आपको खाना बनाना पसंद है तो आप खाने बनाने का ही ब्लॉग बना सकते है। आप लोगो को नई-नई रेसिपी से अवगत करा सकते हैं। इसमें आपको मज़ा भी आयेगा और आपके ब्लॉग के सफ़ल होने की सम्भावना भी बेहद बढ़ जाएगी।

b) यह भी ध्यान रखने की आवश्यकता है कि जिस कैटेगरी को हम ब्लॉग बनाने के लिए चुन रहे है उसे अधिक मात्रा में लोग सर्च करते हो। अगर आपने गलती से कोई ऐसा विषय चुन लिया ब्लॉग के लिए जिसे पाठक पढ़ना पसंद नहीं करते तो आपका ब्लॉग बनाना किसी काम का नहीं रहेगा।

इसलिए सबसे पहले अच्छे से जाँच–पड़ताल करले और उसके बाद ही अपनी दिलचस्पी के अनुसार ज्यादा डिमांड में रहने वाली कैटेगरी पर ही ब्लॉग बनाये।

2. एक ब्लॉगिंग प्लेटफार्म चुने।

Blog kaise banaye का अगला पड़ाव होता है ब्लॉगिंग के लिए प्लेटफार्म चुनना। जिस पर हम अपना ब्लॉग बना सके।

ब्लॉग की शुरुआत करने के लिए कई सारे प्लेटफार्म उपलब्ध है हमारे लिए यह जानकारी होनी अति आवश्यक है कि हमारे लिए कोनसा ब्लॉगिंग प्लेटफार्म सबसे अच्छा रहेगा।

इन प्लेटफॉर्म्स को CMS (Content Management System) भी कहते हैं।

आइये जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स के बारे में –

A). WordPress.org – यह दुनिया के सबसे ज्यादा प्रसिद्ध ब्लॉगिंग सॉफ्टवेयरस में से एक हैं। 2003 में शुरू हुए इस ब्लॉगिंग प्लेटफार्म पर इन्टरनेट की 39% से ज्यादा वेबसाइट हैं। अपने ब्लॉग को वर्डप्रेस पर चलाने के लिए हमे होस्टिंग खरीदने की जरुरत पडेगी।

वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाना बहुत आसान हैं कोई भी व्यक्ति जो तकनीक की जानकारी नहीं रखता वह भी शुगमता से ब्लॉग शुरू कर सकता हैं। WordPress में हम प्लगइन की सहायता से आसानी से कोई भी अच्छा फीचर जोड़ सकते हैं। अगर आप एक नए ब्लॉगर है तो आप वर्डप्रेस के साथ अपना ब्लॉग बनाने के लिए जा सकते हैं।

B). Blogger – ब्लॉगर एक ब्लॉगिंग प्लेटफार्म है जिसे google ने 2003 में Pyra Labs से ख़रीदा था। यह एक फ्री blogging प्लेटफार्म है WordPress.org की तरह अपने ब्लॉग को ब्लॉगर पर बनाने के लिए आपको कोई होस्टिंग लेने की जरुरत नहीं हैं।

Blogger में ब्लॉग बनाना बहुत ही साधारण प्रक्रिया है कोई भी बिना किसी टेक्निकल ज्ञान के यह ब्लॉग शुरू कर सकता है। ब्लॉगर पर ब्लॉग शुरू करने के लिए आपके पास गूगल अकाउंट होना चाहिए। Blogger के साथ ब्लॉग बनाने पर आपका subdomain बिल्कुल मुफ्त https://example.blogspot.com की तरह का होगा।

अगर आप अपने ब्लॉगिंग करियर की शुरुआत में कोई पैसा नहीं खर्च करना चाहते तो blogger एक अच्छा चुनाव हो सकता हैं। www.blogger.com पर जाइये और अपना पहला ब्लॉग बनाइये वो भी बिलकुल मुफ्त में।

C). Tumblr – टम्बलर दूसरे ब्लॉगिंग प्लेटफार्म से थोडा भिन्न है। यह एक माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफार्म है जिसमे कई सोशल नेटवर्किंग फीचर है जिनसे आप अपने ब्लॉग पोस्ट को किसी के साथ भी साझा कर सकते हैं।

Tumblr को tumblr subdomain के साथ उपयोग करना बिल्कुल मुफ्त है आपका subdomain इस प्लेटफार्म में https://example.tumblr.com के जैसा हो सकता है। आप अलग से एक डोमेन खरीद कर tumblr को अपने subdomain से हटा भी सकते हैं।

D). Wix – यह वेबसाइट बनाने के लिए एक प्रसिद्ध प्लेटफार्म हैं। इस प्लेटफार्म में आप बिना किसी ज्यादा प्रयास के वेबसाइट बना सकते हैं। हम Wix Blog app की मदद से आराम से ब्लॉग भी तैयार कर सकते हैं।

Wix.com की शुरुआत 2006 में उन लोगो को ध्यान में रखकर की गयी थी जिनको कोडिंग के जानकारी नहीं हैं। आप यहाँ पर कई टेम्पलेट पाएंगे जिनकी सहायता से एक आकर्षक वेबसाइट और ब्लॉग शुरू कर किया जा सकता हैं।

E). Medium – 2012 में शुरू हुआ यह ब्लॉगिंग प्लेटफार्म एक तरह की लेखको, पत्रकारों, और एक्सपर्ट्स की कम्युनिटी बन गया हैं। यह बहुत ही सरलता से संचालित होने वाला प्लेटफार्म है जिसमें कुछ सोशल नेटवर्किंग फीचर मौजूद हैं। यह एक प्रकार से सोशल नेटवर्किंग की तरह काम करता है जिस पर आप अकाउंट बनाकर आर्टिकल्स प्रकाशित कर सकते है।

आज आपने यहाँ कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म्स के बारे में जाना। आप अपनी सहूलियत के हिसाब से कोई भी प्लेटफार्म उपयोग कर सकते हैं।

जब मैंने अपने ब्लॉगिंग करियर की शुरुआत की थी तब मैंने wordpress को ही अपने hindi blogs के लिए चुना था। आप भी वर्डप्रेस की सहायता से ब्लॉग बना सकते है या blogger से मुफ्त में ब्लॉग बनाकर भी इस क्षेत्र में महारथ हासिल कर सकते हैं।

3. डोमेन नाम खरीदिये (What is domain name in hindi)

डोमेन खरीदने से पहले यह जानना जरुरी है कि domain kya hai?

डोमेन नाम एक अलग सा नाम होता है जिससे किसी वेबसाइट या ब्लॉग की पहचान की जाती हैं। अत: आप कह सकते है कि डोमेन नाम आपकी वेबसाइट का पता है जिसको सर्च करके लोग आपकी वेबसाइट तक पहुचते हैं।

और भी सरल शब्दों में कहे तो, अगर वेबसाइट आपका घर है तो आपका डोमेन नाम उसका पता होगा। यदि आपका कोई डोमेन नाम नहीं है तो कोई भी आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को ढूँढ नहीं पाएगा।

जैसे https://theinfoexpert.com हमारे ब्लॉग का नाम हैं, इसमें “theinfoexpert.com” इस ब्लॉग का डोमेन नाम हैं।

मुझे आशा है आपको समझ आ गया होगा कि डोमेन क्या है? और इसे खरीदना आपके लिए क्यों आवश्यक हैं?

डोमेन नाम लेने से पहले आपको कुछ जरुरी बातों का ध्यान रखना है –

  • हमे ऐसा डोमेन नाम चुनना चहिए जो आसानी से टाइप किया जा सके। ताकि कोई भी आपके ब्लॉग को बिना कठ्नाई कम समय में ढूँढ सके।
  • आपका डोमेन नाम जितना छोटा होगा आपके लिए उतना ही बेहतर होगा। जैसे किसी व्यक्ति के छोटे नाम को याद रखना सरल हैं उसी तरह छोटे डोमेन नाम को याद रखना बहुत सरल हैं । google.com एक छोटा डोमेन नाम है और आसानी से याद भी रखा जा सकता हैं।
  • आपका डोमेन नाम जितना छोटा होगा आपके लिए उतना ही बेहतर होगा। जैसे किसी व्यक्ति के छोटे नाम को याद रखना सरल हैं उसी तरह छोटे डोमेन नाम को याद रखना बहुत सरल हैं। google.com एक छोटा डोमेन नाम है और आसानी से याद भी रखा जा सकता हैं।
  • हमे अपने डोमेन नाम में numbers या hypens का उपयोग नहीं करना चाहिए। ऐसे करने के कारण यूजर्स को आपका ब्लॉग ढूँढने में परेशानी होगी। कभी भी example123.com या example-food.in जैसे डोमेन नाम ना ले।

उपरोक्त दी गयी कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान अगर आप डोमेन नाम चुनने में रखते है तो आप एक अच्छा डोमेन ले पाएंगे और आपका डोमेन पाठको तथा SEO के अनुकूल होगा।

4. वेब होस्टिंग खरीदिये। (Web hosting in hindi)

एक सही डोमेन नाम चुनने के बाद बारी आती है एक बेहतरीन होस्टिंग खरदीने की।

आप में से शायद कुछ लोग सोच रहे होंगे कि ये web hosting या hosting क्या होती है ?

आइये एक साधारण से उदहारण से hosting kya hai यह समझते हैं –

यदि आप किसी नए शहर में रहने के लिए गये है और वहाँ अपना खुद का घर बनाना चाहते है । तो आपको घर के निर्माण के लिए जमीन या जगह खरीदनी होगी।

इसी प्रकार जब हम ब्लॉग बनाते हैं और उसे इन्टरनेट पर प्रकाशित करना चाहते है तो हमे उस ब्लॉग या हमारे द्वारा भविष्य में पोस्ट होंने वाले ब्लॉगस के लिए जगह की जरुरत होगी। वेबसाइट के लिए इन्टरनेट पर जगह खरीदने को ही वेब होस्टिंग या होस्टिंग कहते हैं।

वेब होस्टिंग कई प्रकार की होती है यहाँ हम कुछ मुख्य वेब होस्टिंग के बारे में बता रहे है। जैसे कि –

• Shared Hosting
• Virtual Private Hosting
• Cloud Hosting
• Dedicated Hosting
• Reseller Hosting

यदि आप अभी ब्लॉगिंग करियर शुरू ही कर रह है, तो आपके लिए Shared Hosting खरीदना एक बेहतर फैसला हो सकता हैं। जैसे ही आपके ब्लॉग पर आने वाले पाठको की संख्या काफी बढ़ जाती है तब आप Cloud होस्टिंग या कोई अन्य वेब होस्टिंग खरीद सकते हैं।

Shared होस्टिंग को खरीदना अन्य होस्टिंग की तुलना में सस्ता पड़ता है लेकिन यह होस्टिंग ज्यादा ट्रैफिक नहीं संभाल सकती इसलिए ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक होने पर हमे कोई और होस्टिंग लेनी पड़ती हैं, जो अधिक पाठको का आना भी संभाल सके।

5. वेब होस्टिंग और डोमेन नाम को आपस में जोड़े।

वेब होस्टिंग और डोमेन नाम को खरीदने के बाद बारी आती है ब्लॉग बनाने की तथा ब्लॉग बनाना तभी संभव है जब हम डोमेन और होस्टिंग को एक दुसरे के साथ जोड़ देते हैं।

आइये इन साधारण से स्टेप्स में जानते है कि डोमेन को होस्टिंग से कैसे जोड़े –

  • सबसे पहले आपको अपने होस्टिंग अकाउंट को खोलना हैं। होस्टिंग अकाउंट में जाने के बाद आपको होस्टिंग के cPanel में जाना हैं।
  • cPanel को खोलने के बाद हमे डोमेन सेक्शन में जाना हैं। तथा वहाँ Addon Domains पर क्लिक करना है। क्लिक करने के बाद अपना डोमेन सर्च करना है।
  • हमारे डोमेन के सर्च में आते ही हमे Add Domain पर क्लिक करना हैं। ऐसा करने से हमारा डोमेन होस्टिंग से जुड़ जाएगा । लेकिन अब भी आखिरी काम बचा है और वो हैं DNS को Addon Domain से जोड़ना।
  • DNS को अपडेट करने के लिए हम अपने डोमेन के वेब होस्टिंग Dashboard पेज में जायेंगे। DNS Management section से Addon डोमेन चुन लेंगे जिस से होस्टिंग टेम्पलेट स्वयं से ही सेलेक्ट हो जाएगी। और फिर हम डीएनएस रिकॉर्ड को कन्फर्म कर देंगे । जिस से हमारा डोमेन होस्टिंग से जुड़ जाएगा।

6. वर्डप्रेस या अन्य ब्लॉगिंग प्लेटफार्म को इनस्टॉल करे।

आप अपने वेब होस्टिंग अकाउंट में जाकर आसानी से कोई भी ब्लॉगिंग प्लेटफार्म को इनस्टॉल कर सकते हैं।

हमे होस्टिंग अकाउंट में जाकर सॉफ्टवेर section में जाना है। हमे जो कोई भी ब्लॉगिंग सॉफ्टवेर इनस्टॉल करना है उसको सर्च करके आराम से इनस्टॉल कर सकते हैं।

7. एक Theme चुने और अपने ब्लॉग को डिजाईन करे।

अब बारी है ब्लॉग को डिजाईन करने की और उसके लिए हमे एक थीम चुननी पड़ेगी।

एक अच्छी थीम चुनना आपके ब्लॉग के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। हमे बहुत हलकी थीम चुननी है जिसका साइज़ ज्याद ना हो। थीम का साइज़ जितना कम होगा आपकी वेबसाइट की स्पीड उतनी ही बेहतर होगी ।

अगर आप अभी थीम खरीदने में पैसा नहीं खर्च करना चाहते तो GeneratePress, Heista, Astra आदि में से कोई एक आपके लिए मुफ्त में अच्छा आप्शन हो सकती हैं।

अगर मैं अपनी बात करू तो में मुफ्त में GeneratePress के साथ जाऊंगा क्योंकि इसका साइज़ अन्य सभी थीम्स से कम हैं।

यहाँ एक बात ध्यान रखने की जरुरत ही कि मुफ्त में मिला कुछ भी मुश्किल से ही बेहतर होता हैं। इसलिए जब आपके पास कुछ पैसे हो तो एक बढ़िया थीम अवश्य खरीद ले, या जो थीम आप उपयोग कर रहे हैं उसका ही कीमत वाला वर्जन खरीद ले। क्योंकि फ्री की थीम में ज्यादा बेहतर फीचर नहीं होते है जिसके कारण आप ब्लॉग उतने अच्छे से डिजाईन नहीं कर सकते।

एक बेहतर थीम को डिजाईन करना आसान होता है। आप अपने अनुसार ब्लॉग के नाम को आकर्षक बना सकते हैं, उसमे Logo लगा सकते हो और भी ऐसे ही चीज़े करके ब्लॉग को बेहद आकर्षक बना सकते हैं।

थीम को अच्छे से customize कीजिए और आवश्यक plugin को भी ब्लॉग में इनस्टॉल करे।

8. ब्लॉग पोस्ट लिखे और प्रकाशित करे।

एक ब्लॉग अच्छे से डिजाईन करने के बाद काम आता है पोस्ट लिखने का तथा उसको साईट में प्रकाशित करने का।

ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले बढ़िया तरीके से उस टॉपिक के बारे में जानकारी प्राप्त कर लो जिसे आप लिखने जा रहे हैं। अगर आपने किसी ऐसे टॉपिक पर लिखा जिसे बहुत ही कम लोग पढ़ते है तो आपकी पोस्ट अधिक कामयाब नहीं होगी।

जैसे की हमे blog meaning in hindi कीवर्ड पर लिखना है तो हमे अच्छे से इन्टरनेट पर ढूँढना चाहिए कि इस टॉपिक को कितनी मात्रा में व्यक्ति सर्च कर रहे हैं। यदि अधिक मात्रा में लोग इस जानकारी को प्राप्त करने का प्रयास कर रहे है तो ही blog meaning in hindi कीवर्ड पर लिखना अच्छा फैसला होगा, अन्यथा किसी अन्य विषय पर लिखे।

अच्छे से पोस्ट लिखने के बाद हमे उस पोस्ट को अपने ब्लॉग पर प्रकाशित करनी है पोस्ट को प्रकाशित करने से पहले अच्छी ढंग से SEO कर लेनी चाहिए।

9. ब्लॉग पोस्ट का अच्छे से SEO करे।

पोस्ट लिखना एक अलग बात हैं जबकि उसका SEO करना दूसरी। ब्लॉग पोस्ट लिखने के बाद देखे की आपकी पोस्ट SEO के अनुसार लिखी गयी है या नही।

अगर पोस्ट SEO के अनुसार नहीं है तो उसमे कुछ बदलाव अवश्य कीजिये। ब्लॉग को SEO के लायक बनाने का मतलब है सर्च इंजन पर रैंक होने की सम्भावना को बढ़ाना।

मुझे नहीं लगता कि SEO को हलके में लेकर आप सर्च इंजन पर रैंक करने की सम्भावना को कम करना चाहेंगे। ब्लॉग पोस्ट को SEO के अनुसार बनाकर ही ब्लॉग पर प्रकाशित करे। पोस्ट का SEO करने के लिए आप Yoast प्लगइन का प्रयोग कर सकते हैं, यह प्लगइन आपके लिए ऑन-पेज SEO करना बेहद शुगम बना देगा।

आपने देखा हमने 9 steps में जाना कि एक पैसे कमाने वाला ब्लॉग कैसे बनाया जा सकता है। मैंने अपना यह hindi blog बिल्कुल इसी तरीके से बनाया है। मुझे उम्मीद है आपको भी ऐसा करने में कोई कठनाई नहीं आयेगी।

ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए ?

हमारे ब्लॉग बनाने के मुख्यता: दो ही उद्देश्य हो सकते है पहला लोगो को जानकारी प्राप्त कराना और दूसरा पैसे कमाना।

एक अच्छा ब्लॉग बनाकर हमारा पहला प्रयोजन तो सफल हो जाता है पर दुसरे का क्या? Blog se paise kaise kamaye?

अगर हम ब्लॉग से पैसे नहीं कमा पाते तो हमारा ब्लॉग चलाना भी मुश्किल हो जाएगा क्योंकि ब्लॉग चलाने में खर्चा आता हैं। हमे डोमेन नाम, होस्टिंग, थीम, प्लगइन जाने क्या-क्या एक ब्लॉग को अच्छे ढंग से चलाने के लिए खरीदना पड़ता हैं।

एक ब्लॉगर ब्लॉगिंग से अच्छा-खासा धन कमा सकता है बस उसे पता हो ऐसा कैसे किया जाता है।

आइये हम जानते हैं कुछ तरीके जिनसे की ब्लॉग बनाकर पैसे कमाए जा सकते हैं? –

तरीका न०. 1) – विज्ञापन नेटवर्क (Ad Networks) का इस्तेमाल करे।

ब्लॉग से पैसा कमाने के लिए Ad networks का इस्तेमाल करना बेहतर रहेगा। ब्लॉगिंग के लिए बहुत सारे विज्ञापन नेटवर्क्स उपलब्ध है आप किसी भी नेटवर्क्स से अनुमति पाकर विज्ञापन दिखाना शुरू कर सकते है और पैसे कमा सकते हैं।

दो विज्ञापन नेटवर्कस जो बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है –

• Google AdSense
• Media.net

आपके पास एक ब्लॉग होना चाहिए ताकि आप इन ad नेटवर्क्स से विज्ञापन दिखाने की सम्मति पा सके। ये खुद से ही आपकी वेबसाइट पर कंटेंट के अनुसार विज्ञापन दिखायेंगे।

ज्यादातर नए ब्लॉगस इसी विज्ञापन वाले तरीके से पैसे कमाने के लिए जाते हैं।

अगर हमारे ब्लॉग पर 500 से ज्यादा लोग प्रतिदिन आ रहे हैं और हम विज्ञापन दिखाने वाली कंपनियो के नियमो का पालन कर रहे है तो हमे विज्ञापन दिखाने की स्वक्र्ती मिलने में कठ्नाई नहीं होगी।

तरीका न०. 2) – सहबद्ध मार्केटिंग (Affiliate Marketing)

Affiliate Marketing ब्लॉग से पैसे कमाने के सबसे अच्छे तरीको में से एक हैं। अगर आप Affiliate विज्ञापन के द्वारा एक बिक्री करने में भी कामयाब हो जाते है तो आप बहुत अच्छी कमाई कर सकते हैं।

इस तरीके को अपनाने के लिए पहले हम एक उत्पाद या सर्विस के लिए आकर्षक पोस्ट लिखते हैं और फिर उस पोस्ट के कुछ शब्दों में उस उत्पाद या सर्विस को खरीदने के लिय लिंक दे देते हैं।

यदि कोई व्यक्ति उस लिंक पर क्लिक करके कुछ खरीदारी करता हैं तो हमे उस बिकने वाले सामान की कीमत का कुछ हिस्सा कमीशन के रूप में मिलता हैं।

इस एक उत्पाद के बिकने का हिस्सा भी हमारे ऐड नेटवर्क्स की महीने भर की कमाई से अधिक हो सकता हैं। इसलिए ज्यादातर ब्लॉगर affiliate marketing को साईट से कमाई के जरिये के रूप में पसंद करते है।

तरीका न०. 3) – प्रायोजित या विज्ञापन वाली पोस्ट लिखो (Write sponsored content)

अब आप सोच रहे होंगे की ये प्रायोजित या विज्ञापनीय पोस्ट क्या होती है? प्रायोजित या विज्ञापन वाली पोस्ट वो होती हैं जिनमे किसी उत्पाद या सेवा के बारे में जानकारी होती है और ये पोस्ट किसी कंपनी या व्यक्ति द्वारा लिखवाई जाती है। जिसे ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर कुछ पैसो के बदले में पोस्ट करता है।

ऐसा करने से कंपनी के उत्पादों और सेवाओ के बारे में मार्केटिंग हो जाती हैं तथा ब्लॉगर की बहुत बढ़िया कमाई हो जाती हैं।

आप हर महीने कितनी भी sponsered पोस्ट लिख सकते है और अधिक से अधिक कमाई कर सकते है।

मान लो एक मोबाइल बनाने वाली कम्पनी नया मोबाइल बाज़ार में लॉन्च करती हैं तथा आपका जो ब्लॉग है वो टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं। ऐसी स्थति में कंपनी आपको इस नए मोबाइल पर ब्लॉग लिखने को कह सकती है और यह काम करने के लिए माकूल पैसा भी दे सकती हैं।

इस ऊपर उल्लेख किये गए उदहारण से आप समझ गए होंगे कि इस तरीके से भी बहुत धन कमाया जा सकता हैं।

तरीका न०. 4) – Sponsered सोशल मीडिया पोस्ट्स से कमाई।

जब हम एक ब्लॉग रखते है और उस पर अधिक ट्रैफिक आता है तो हमारी कमाई करने के मौके स्वयं ही बढ़ते जाते हैं।

अगर आपकी सोशल मीडिया पर उपस्तिथि काफी अच्छी है मतलब की आप बहुत ज्यादा फॉलोअर्स रखते है तो आपके लिय पैसे कमाने का नया तरीका खुल जाता हैं।

बहुत सारे बड़े ब्रांड ऐसे लोगो से sponsered सोशल मीडिया पोस्ट लिखवाते है जो सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा फ़ॉलोअर्स रखते हैं। ऐसे काफी ज्यादा ब्लॉगर है जो अपनी पूरी कमाई ऐसे पोस्ट लिख कर करते हैं।

आप भी अपने ब्लॉग के द्वारा अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर फ़ॉलो करने वालो की संख्या बढ़ा सकते हैं तथा इस कमाई की तकनीक को अपनाकर बेहद ज्यादा पैसा कमा सकते हैं।

तरीका न०. 5) – अपना ऑनलाइन कोर्स बनाये और बेचे।

आपने शायद कई वेबसाइट पर ऑनलाइन पाठ्यकर्म को बिकते देखा होगा। कई लोग उस विषय का पाठयक्रम तैयार कर लेते है जिनकी उन्हें गहन जानकारी होती है और फिर उसे अपने साईट पर बेच देते हैं।

यदि आपको ब्लॉगिंग के बारे में बहुत गहन ज्ञान है तो आप भी ऑनलाइन कोर्स तैयार कर सकते हैं। अगर आप सोच रहे है कि ऑनलाइन कोर्स बनाने की शुरुआत कैसे करे तो शायद मेरा प्लान आपके लिए काम कर सकता हैं।

ब्लॉगिंग की फील्ड में बहुत ज्यादा लोग है जिन्हें ब्लॉग का मतलब नहीं पता क्योंकि उन्हें किसी ने हिंदी में अच्छी तरह समझाया ही नही। तो इस मौके हो देखते हुए आप एक विडियो से शुरुआत कर सकते जिसका टाइटल आप hindi blog या blog meaning in hindi दे सकते हैं।

ऐसे करने पर जितने भी लोग hindi blogs की जानकारी चाह रहे है वो आपके कोर्स को खरीदने की जरुर सोचेंगे।पाठको को आपके कोर्स पसंद आये तथा उन्हें खरीदने शुरू कर दिए तो आप सोच भी नहीं सकते इस से कितनी कमाई हो सकती हैं।

मेरा तो यही कहना है चाहे आपको विदेशों में घुमने की जानकारी हो या कोई कौशल अच्छे से आता हो उसका कोर्स बनाओ एवं ब्लॉग बनाकर बेचना आरम्भ कीजिये।

तरीका न०. 6) – अपनी eBooks बेचकर लाखो कमाओ।

हम में से कई लोग को नहीं पता की यह eBook है क्या?

आइये जानते है ईबुक के बारे में और इस से कमाते कैसे हैं?

eBook बिल्कुल हमारी किताब की तरह हैं बस फर्क इतना है कि किताब कागज का बना एक बण्डल होता हैं जबकि ईबुक को बनाने में किसी कागज का इस्तेमाल नहीं होता यह कंप्यूटर या मोबाइल से तैयार की जाती हैं तथा इन उपकरणों के अन्दर ही रखी जाती हैं।

किसी इबुक को पढने के लिए हमे कम्पुटर, लैपटॉप, टेबलेट या मोबाइल की जरुरत होती हैं।

और भी आसान भाषा में कहे तो यह ऐसी किताब होती है जिसे आप किसी स्क्रीन की सहायता से पढ़ते हैं अब चाहे वो स्क्रीन किसी भी उपकरण की हो।

बहुत ज्यादा मात्रा में ब्लॉगर अपने उत्पाद बना रहे हैं तथा उन्हें बेचकर लाखो में रूपए कमा रहे हैं । मैंने भी पिछले साल एक छोटी से इबुक blog in hindi विषय पर लिखी थी जिसके लिए मुझे हजारों रुपये की कमाई हुई थी, अब आप सोच सकते है सिर्फ एक इबुक लिखने की इतनी कमाई कम नहीं हैं।

आप भी कोई टॉपिक लीजिये, यदि उसके बारे में गहन ज्ञान नहीं रखते तो अच्छे से जानकारी इकट्ठा कीजिये। फिर धीरे- धीरे प्रतिदिन 600-700 शब्द 18 से 20 दिन तक लगातार उस विषय के बारे में लिखिए बस आपकी eBook तैयार हो जाएगी।

अब आप अपनी इस इबुक को अपने ब्लॉग पर बेच सकते हैं या सोशल मीडिया पर मार्केटिंग करके भी बेच सकते हैं।यदि आपकी इबुक में सच में कुछ पढने लायक है, जानने लायक है, उसको पढ़कर पाठको को कुछ ऐसा पता चलता है जो अन्य इबुक में उन्हें नहीं मिला तो आपकी इबुक बहुत ज्यादा सफल होने वाली हैं।

इसलिए अपने पाठको को अधिक से अधिक प्रवाभी ज्ञान देने का प्रयास करे तथा अपनी कमाई को चोगुना करे। हमारे द्वारा इबुक में दिया गया ज्ञान जितना लोगो के काम आने वाला होगा, लोग उतना ही हमारे बारे में बात करेंगे। ऐसे करने से हमारी बिना पैसे खर्च करे मार्केटिंग होगी तथा हमारे उत्पाद की बिक्री में भी प्रभावशाली रूप से वृद्धि होगी।

ध्यान देने योग्य – ब्लॉग से कमाई करने के और भी कई कामयाब तरीके मौजूद हैं लेकिन मैंने यहाँ पर कुछ के ही बारे में आपको जानकारी प्राप्त कराने का प्रयास किया हैं। मैंने hindi blog से पैसे कमाने की सिर्फ उन तकनीको के बारे में आपको अवगत कराया हैं जिनसे कभी ना कभी मैंने भी पैसे कमाए हैं। इसलिए मैंने कमाई के अधिक तरीको के बारे में जिक्र नहीं किया, क्योंकि जिनको मैंने खुद नहीं आजमाया वो में अपने पाठको को करने के लिय कैसे कह सकता हूँ। हाँ बस इतना कह सकता हूँ, जितने तरीके बताए वो सभी आपको अमीर बना सकते हैं बस कुछ समय लगेगा।

FAQ

सवाल – ब्लॉग क्या हैं एक उदहारण देकर समझाइए ?

जबाब – ब्लॉग एक तरह की वेबसाइट हैं जिस पर कई पेजों का संग्रह होता हैं। ब्लॉग कोई भी इन्सान शुरू कर सकता हैं। www.theinfoexpert.com एक ब्लॉग ही हैं।

सवाल – फ्री में ब्लॉग कैसे बनाया जा सकता हैं ?

जबाब – यदि आप मुफ्त में ब्लॉग बनाना चाहते है तो आप गूगल के ही मालिकाना हक़ वाले blogger.com से ब्लॉगिंग की शुरुआत कर सकते हैं। आपको www.blogger.com पर जाना होगा और अपने ब्लॉग का एक अच्छा सा नाम चुनना होगा, बस इतन करने से आपका फ्री ब्लॉग तैयार।

सवाल – क्या हमे 2021 में ब्लॉगिंग शुरू करनी चाहिए ?

जबाब – ब्लॉगिंग की महत्वता तब तक रहेगी जब तक लोग जानकरी को पढ़कर समझना पसंद करते रहेंगे। अब विडियो का चलन बहुत बढ़ गया हैं फिर भी ब्लॉगिंग को अभी भी कई वर्षो तक कोई खतरा नहीं हैं। हम बेझिजक ब्लॉगिंग को करियर के रूप में शुरू कर सकते हैं।

सवाल – क्या हिंदी ब्लॉगिंग से लाखो रूपये कमाए जा सकते हैं?

जबाब – हाँ, ब्लॉगिंग से आप लाखो रूपये कमा सकते हैं। ऐसे कई हिंदी ब्लॉगर भी आपको मिल जायेंगे जो महीने के लाखो रूपये ब्लॉगिंग से ही कमा रहे हैं।

आज हमने क्या जाना ?

आपने blog meaning in hindi की इस पोस्ट में जाना कि कैसे एक शुरूआती व्यक्ति भी थोड़े से प्रयास से लाखो कमाने वाला ब्लॉगर बन सकता हैं।

हमने आर्टिकल में ब्लॉग और ब्लॉग से सम्बन्धित सभी महत्वपूर्ण जानकारी को आपको प्राप्त कराने का प्रयतन किया हैं। यदि आप इस जानकारी को अच्छे ढंग से अमल में लाते हैं तो अवश्य ही आपको फायदा होगा।

इस ब्लॉग को पूरा पढ़कर आपने hindi blog ही नहीं अपितु english blog बनाने लायक ज्ञान प्राप्त किया है, उम्मीद है आप एक सफल ब्लॉग बनाकर अच्छी कमाई करेंगे।

अब आपको पूर्णता : पता चल गया होगा कि ब्लॉग क्या है और ब्लॉग कैसे बनाये?

हमे आशा है कि आपको प्राप्त की गयी जानकरी एक ब्लॉग बनाने के लिए काफी है यदि फिर भी कही कुछ कमी रह गयी है तो कमेंट करके हमे अवश्य बताए तथा आप ब्लॉगिंग से सम्बन्धित सवाल भी हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

अगर आपके लिए यह पोस्ट फायदेमंद साबित हुई हो, तो इसे ज्याद से ज्याद शेयर करे। जिससे कि हमारा आत्मविश्वास बढे और हम आपके लिए ऐसे ही और आपकी जानकारी बढ़ाने वाली पोस्ट ला सके।

अन्य पोस्ट पढ़े –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *