7 मिनट में जाने कंप्यूटर के बारे में सबकुछ | What is Computer in Hindi

आज हम computer in hindi के इस ब्लॉग में जानेंगे कि computer kya hai और हम इसका उपयोग ज्यादा से ज्यादा सही काम में कैसे कर सकते हैं।

कंप्यूटर के बारे में जानना इसलिए भी ज्यादा आवश्यक हैं क्योंकि इसका उपयोग तीव्र गति से दिन-बा-दिन बढ़ रहा हैं और आने वाले युग में आप कोई भी काम बिना कंप्यूटर के करने की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

आजकल की इस भाग-दौड़ वाली ज़िन्दगी में कोई भी काम जल्दी करने के लिए हम कंप्यूटर का उपयोग करते हैं । चाहे आपको लाखो संख्याओ को एक साथ जोड़ना हो या कोई भी जानकारी प्राप्त करनी हो सभी के लिए कंप्यूटर का उपयोग कर सकते हैं।

computer-in-hindi
कंप्यूटर की जानकारी

आप देख सकते है अब तो स्कूल में भी कंप्यूटर की शिक्षा देनी अनिवार्य कर दी गई हैं इसलिए हमारे लिए भी आगे बढ़ने के लिए इसकी जानकारी रखनी जरुरी हो गई हैं। तो आइये computer meaning in hindi को अच्छे से जानने का प्रयास करते हैं।

कंप्यूटर क्या हैं ? (Computer in Hindi)

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो जानकारी को सहेज़ कर रखता है तथा मांगे जाने पर उस जानकारी को उपयोगकर्ता को प्राप्त कराता हैं।

आपको पहले ही पता होगा कि हम कंप्यूटर की सहायता से किसी भी दस्तावेज़ को टाइप कर सकते हैं, मेल भेज सकते हैं, गेम खेल सकते है तथा इसी प्रकार के अनेको काम कर सकते हैं।

कंप्यूटर का जो मुख्य : काम होता हैं वो जानकारी को प्राप्त करना – जानकारी की प्रक्रिया करना और अंत में जानकारी को उपयोगकर्ता के पास पहुचाना। कोई भी कंप्यूटर इसी तरह काम करता हैं।

कंप्यूटर के बारे में जानने से पहले हमे एक बात अवश्य पता होनी चाहिए कि कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेर दो चीजों का मेल हैं।  

हार्डवेयर कंप्यूटर का वो ढ़ांचा होता हैं जिसको हम स्पर्श कर सकते हैं। हार्डवेयर के कुछ उदहारण हैं जैसे – मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस आदि।

सॉफ्टवेर कंप्यूटर का वो हिस्सा होता हैं जिसे हम सिर्फ देख सकते हैं इसे स्पर्श नहीं कर सकते हैं। अगर कहे तो यह हमारे द्वारा कंप्यूटर को नंबर्स के रूप में दी गई सूचना होती है। सॉफ्टवेर के कुछ उदहारण हैं जैसे – वेब ब्राउज़र, गेम, वर्ड प्रोसेसर इत्यादि।

अगर हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेर को ज्यादा अच्छे से समझे तो आप इस लेख को वेब ब्राउज़र ( सॉफ्टवेर) में अपने माउस ( हार्डवेयर) की सहायता से पेज पर क्लिक करके पढ़ रहे हैं।

कंप्यूटर का संक्षिप्त इतिहास (history of computer in hindi)

Charles Babbage ने 19 वी सताब्दी के आरम्भ में सबसे पहले कंप्यूटर का अविष्कार किया था, यह एक मैकेनिकल कंप्यूटर था।

पहला डिजिटल कंप्यूटर या प्रोग्रामिंग कंप्यूटर ENIAC था। ENIAC का पूरा नाम Electronic Numerical Integrator and Computer था। इसका निर्माण दुसरे विश्वयुद्ध के दौरान सन 1943 से 1946 के बीच किया गया था।

इस कंप्यूटर के निर्माण का उद्देश्य गणना करने को बहुत तेज और सरल बनाना था। इस तरह के कंप्यूटरस साइज़ में बहुत बड़े थे, इसलिय ये बस बड़ी कंपनियो, विश्वविद्यालयों, सरकारी कार्यो तथा लैब में ही प्रयोग में लाये जाते थे।

इस जैसे ही शुरुआती कंप्यूटरों ने आज के स्मार्ट कंप्यूटरों की नीव रखी। हमने history of computer in hindi को जाना कि कैसे इस उपयोगी उपकरण की शुरुआत हुई थी।

कंप्यूटर के प्रकार (Types of computer in hindi)

जब से कंप्यूटर का उदय हुआ हैं तब से इसमें निरंतर बदलाव होता गया। जिस तरह लोगो को काम करना आसान लगा वो वैसे ही इस मशीन को अपने अनुसार ढालते गए। आज इस क्षेत्र में इतन बदलाव आ गया हैं कि आप आज के कंप्यूटर को सबसे पहले बने कंप्यूटर का रूप कह ही नही सकते।

आइये कदम-दर-कदम देखते हैं कि साधारण सी गणना करने वाली मशीन ने आज क्या रूप ले लिया हैं।

डेस्कटॉप कंप्यूटर –

आपको डेस्कटॉप कंप्यूटर सामान्यता विद्यालयो, प्रयोगशाला, तथा कंपनियो में ज्यादातर देखने को मिल जायेंगे। ये कंप्यूटर डेस्क पर रख कर चलाने के लिए बनाया जाता हैं क्योंकि ये बजन में कुछ भारी होते हैं। एक डेस्क कंप्यूटर मॉनिटर, कीबोर्ड, और माउस से जुड़ा होता हैं।

लैपटॉप कंप्यूटर –  

दुसरी तरह का जो कंप्यूटर है वह है लैपटॉप कंप्यूटर। हम सभी जानते है कि एक डेस्कटॉप कंप्यूटर को कही भी आसानी से ले जाना बिल्कुल भी आसन नहीं हैं, इसलिए एक ऐसे कंप्यूटर को ईजाद किया गया जिसे कही भी ले जा सकते हैं। लैपटॉप को आप कही भी रख कर चला सकते हैं, बजन में हलके होने के कारण इसे अपने साथ ले जाना बड़ा ही आसन हैं।

इसे चलाने के लिए आपको अलग से माउस या कीबोर्ड लगाने के की जरुरत नहीं होती हैं। लैपटॉप में पहले से ही सबकुछ लगा हुआ आता हैं।

टेबलेट कंप्यूटर या टेबलेट –

टेबलेट का निर्माण कंप्यूटर को लैपटॉप से भी ज्यादा शुगम बनाने के लिए किया गया था। जहाँ लैपटॉप में कीबोर्ड एवं माउस पैड दिया गया था, वही टेबलेट में इन दोनों को हटाकर इसमें टच स्क्रीन की सुविधा दे दी गई।

टच स्क्रीन होने से टेबलेट का बजन बहुत हल्का हो गया और इसे चलाना भी डेस्कटॉप कंप्यूटर तथा लैपटॉप से बहुत ज्यादा आसन हो गया। कोई भी इन्सान टेबलेट को जेब में रख सकता हैं तथा इस से कोई भी जानकारी, कही भी प्राप्त कर सकता हैं। यहाँ पर हमने types of computer in hindi के बारे में जाना। हम कुछ और उपकरण का उल्लेख कर रहे हैं जो कंप्यूटर जैसे ना दिख कर भी कही ना कही  कंप्यूटर ही हैं जैसे कि –

स्मार्टफोन –

कई स्मार्टफोन बहुत सारी चीज़े कर सकते हैं जो एक कंप्यूटर कर सकता हैं। चाहे आपको सर्च इंजन पर कुछ ढूँढना हो, किसी को ईमेल भेजना हो, गेम खेलना हो, या कोई गणना करनी हो, आजकल के मोबाइल कंप्यूटर की तरह सबकुछ कर सकते हैं।

स्मार्ट टेलीविज़न  –

आजकल बाज़ार में कई स्मार्ट टेलीविज़न मौजूद हैं जिनमे आपको एप्लीकेशन देखने को मिल जाएगी, आप टीवी को इन्टरनेट से जोड़ के कुछ भी देख सकते हैं। अगर आप चाहे तो स्मार्ट टीवी पर गेम भी खेल सकते हैं।

गेम कंसोल –

यह एक प्रकार का कंप्यूटर ही होता हैं जिसका उपयोग हम अपने टेलीविज़न में गेम खेलने के लिए करते हैं।

इन्ही उपकरणों की ही तरह ऐसी बहुत सारी चीज़े हैं जो कंप्यूटर ही हैं या उनमे कंप्यूटर की तकनीक का ही इस्तेमाल किया गया हैं।

मुख्य: हिस्से जिनके बिना कंप्यूटर किसी काम का नहीं, वो हैं –

कंप्यूटर कई हिस्सों से मिलकर बना एक उपकरण हैं पर ये कुछ ज्यादा महत्वपूर्ण अंश हैं जिनके बिना हम कंप्यूटर चल ही नहीं सकता।

  • प्रोसेसर – इसका काम संदेश को सॉफ्टवेर तथा हार्डवेयर तक पहुचाने का होता हैं।
  • मैमोरी –  यह मुख्य: मैमोरी होती हैं जो CPU तथा डाटाबेस के बीच में डाटा के आदान-प्रदान में काम आती हैं।
  • स्टोरेज डिवाइस – यह स्थायी रूप से विवरण को सहज़ कर रखने का काम करता हैं। जैसे – हार्ड ड्राइव
  • मदरबोर्ड – यह वो भाग होता हैं जिस से कंप्यूटर के सभी दुसरे भाग जुड़े होते हैं।
  • इनपुट डिवाइस – इसका काम आपको कंप्यूटर से वार्ता करने के लिया या डाटा को कंप्यूटर में डालने के लिया किया जाता हैं जिसे कि परिणाम मिल सके। जैसे – कीबोर्ड
  • आउटपुट डिवाइस – यह आपको समर्थ बनाती हैं ताकि आप निर्दशित किया हुआ परिणाम देख सके। उदहारणनार्थ – मॉनिटर  

कंप्यूटर उपयोग करने के फायदे और नुकसान | advantages and disadvantages of computer in hindi

अभी तक हमने पढ़ा कि कैसे कंप्यूटर हमारे हर काम को आसानी से करने में उपयोगी सिद्ध होता हैं। इसमें कोई भी शक नहीं हैं कि कंप्यूटर के बिना हम अपने विकास की कप्लना भी नहीं कर सकते, पर फिर भी कंप्यूटर अधिक मात्र में उपयोग हमे नुकसान भी पंहुचा सकता हैं।

आइये जानते हैं advantages and disadvantages of computer in hindi –

कंप्यूटर उपयोग करने के फायदे

  • उत्पादकता बढ़ाता हैं कंप्यूटर हमारी उत्पादकता बढ़ाने में बहुत सहायक हैं। उदाहरनार्थ; अगर आप कंप्यूटर में पर काम कर रहे हैं तो आप जल्दी और शुगामता से दस्तावेज बना सकते हैं, संपादित कर सकते हैं, इसको सुरक्षित स्टोर रख सकते हैं तथा प्रिंट भी निकाल सकते हैं।  
  • विवरण और जानकारी को संगठित रखता हैं –  कंप्यूटर ना केवल आपके विवरण (डाटा) और जानकारी को सुरक्षित रखता हैं बल्कि आपकी जानकारी को संगठित भी रखता हैं। हम अलग-अलग तरह के फोल्डर बना सकते हैं तथा उनमे जानकारी को सहेज़ सकते हैं। हम फोल्डर को नाम दे सकते हैं जिस प्रकार की जानकारी उसमे जमा की गई हैं उसके अनुसार।
  • भंडारण – एक कंप्यूटर हमे सुविधा देता हैं कि हम बहुत ज्यादा जानकारी को सहेज़ कर रख सकते हैं। उदहारण के लिए., हम प्रोज़ेक्ट, इबुक, दस्तावेज़, गाने, फिल्में आदि कंप्यूटर में इक्ट्ठा करके रख सकते हैं।
  • इन्टरनेट से जोड़ सकते हैं। – हम सभी को पता हैं कि इन्टरनेट का सही उपयोग हमारे जीवन में कितना जरूरी हैं। देश-दुनिया की छोटी से छोटी सूचना प्राप्त करनी हो या पढाई करने के लिए सामग्री ढूँढनी हो । हम शुगमता से इन्टरनेट की सहायता से खोज सकते हैं। इन्टरनेट को कंप्यूटर से जोड़कर ज्ञान पाने का यह काम और भी आसानी से किये जा सकता हैं तथा हम इन्टरनेट से मिले ज्ञान को कंप्यूटर में सुरक्षित रख सकते हैं।
  • योग्यता बढ़ाता हैं – अगर हम गणित में अच्छे नहीं हैं मतलब गणना करने में बेहतर नहीं हैं तो हम गणना करने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस से हमारा समय भी बचेगा एवं परिणाम भी बिल्कुल सटीक मिलेगा।
  • मनोरंजन में काम आता हैं – हम सभी अपनी रोज-मर्रा के काम को निपटाकर, थकान दूर करने के लिए मोनोरंजन का सहारा तो लेते ही हैं। कंप्यूटर का उपयोग हमारे मनोरंजन को और भी बढ़ा सकता हैं। हम गेम खेल सकते हैं, मूवीज देख सकते हैं और भी बहुत कुछ मजे कर सकते हैं।  

कंप्यूटर उपयोग करने के नुकसान

दुनिया में कोई भी चीज़ अगर हमे फायदा पंहुचा रही हैं तो उसके कही ना कही नुकसान भी होता हैं। यदि आप किसी बीमारी को ठीक करने के लिए दवाई ले रहे हैं तो वो दवाई थोड़ी तो शरीर की शक्ति में कमी करेगी।

अब इसका मतलब ये तो नही कि हम दवाई खाना छोड़ दे, ऐसे करने से हमारी बीमारी और ज्यादा बढ़ जाएगी और हमे घातक परिणाम देखने पड़ेगे।

बस हम इतना कर सकते हैं कि दवाई से ज्यादा हानि ना हो इसलिए अपना खान-पान बेहतर कर सकते हैं। खाने में शरीर में उर्जा बढ़ाने वाली चीज़े ले सकते हैं। ऐसा ही कंप्यूटर के बारे में सच हैं इसके अगर फायदे हैं तो नुकसान भी। बस हमे नुकसान को फ़ायदो के ऊपर किसी भी हालत में हावी नहीं होने देना।

आइए जानते हैं कंप्यूटर के ज्यादा उपयोग से होने वाली हानि के बारे में –

  • कंप्यूटर हो या कोई भी अन्य स्क्रीन वाला उपकरण हो इनका सबसे ज्यादा प्रभाव हमारी आँखों पर बहुत पड़ता हैं। इसलिए हमारी आँखों तथा कंप्यूटर के बीच कम से कम 30 cm से अधिक दूरी तो हीनी ही चाहिए। तथा हमे हर एक घंटे बाद कम से कम 10 मिनट्स का ब्रेक तो लेना ही चाहिए एवं आँखों पर ठन्डे पानी की झपकी देनी चाहिय।
  • जब हम कंप्यूटर पर लगातार कई घंटे बैठे-बैठे काम करते रहते हैं इस से ना सिर्फ हमारी आँखे बल्कि शरीर के और भी हिस्सों पर दुष्प्रभाव पड़ता हैं। इसलिए रोज कंप्यूटर के आगे बैठने वालो को व्यायाम अवश्य करना चाहिये और हर घंटे बाद काम से थोड़ी फुर्सत लेकर टहलना जरूर चाहिए।
  • इस उपकरण का तीसरा दुष्प्रभाव जो हमें कोई नहीं बताएगा, वह हैं सोचने की शक्ति या दिमाग पर प्रभाव। हम सब इस ज्ञान से भरे संसार में हर छोटा काम खुद से ना सोचकर टेक्नोलॉजी के मदद से पूर्ण करते हैं। बहुत लोग तो आसान से गुणा-भाग करने में भी कंप्यूटर की सहायता लेते हैं ऐसे करने से हमारे दिमाग को ज्यादा सोचना नहीं पड़ता। और अगर हमारा दिमाग सोचेगा नहीं तो तेज भी नहीं होगा। इसलिए जो काम सोचकर हम कर सकते उनमे कंप्यूटर का सहारा ना लेना ही बढ़िया हैं।

हमने कुछ advantages and disadvantages of computer in hindi के बारे में जाना। अगर आप कंप्यूटर के फ़ायदो का अच्छे से उपयोग करते है एवम हानियों को भी दिमाग में रखते हैं तो आप इस उपकरण से बहुत फायदा ही उठा पाएंगे।

कंप्यूटर का महत्व (Importance of Computer in Hindi)

इस बात का तो किसी को भी शक नहीं होना चाहिए कि कंप्यूटर हमारे लिए कितना जरुरी हैं। कंप्यूटर बहुत आवश्यक हैं और यह पहले ही हमारी ज़िन्दगी का हिस्सा बन गया हैं।

चाहे हमे ऑनलाइन व्यापर करना हो, या किसी को कुछ आवश्यक दस्तावेज भेजने हो, सब कंप्यूटर के कारण ही तो मुमकिन हुआ हैं। यहाँ तक कि हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण उपकरण मोबाइल भी तो एक कंप्यूटर ही हैं।

मेरा तो यहाँ तक मानना हैं कि संसार में मौजूद हर एक मनुष्य को कंप्यूटर की थोड़ी बहुत तो जानकारी होनी चाहिए। माता-पिता को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उनके बच्चो को अभी से कंप्यूटर का ज्ञान हो ताकि वो और बच्चो से पीछे ना रह जाये।

# कंप्यूटर के बारे में सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले कुछ रोचक सवाल FAQ

सवाल – कंप्यूटर का दिमाग किसे कहते हैं ?

जबाब – CPU को कंप्यूटर का दिमाग कहा जाता हैं क्योंकि यह ही कंप्यूटर में परिणाम प्रदशित करने के लिए संदेश भेजने का काम करता हैं। CPU का पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट हैं।

सवाल – कंप्यूटर का हिन्दी में क्या नाम हैं ? computer name in hindi ?

जबाब – कंप्यूटर को हिन्दी में संगणक कहते हैं। संगणक का मतलब गणना करने वाला यंत्र होता हैं। वैसे हम संगणक ना कहकर हिंदी में भी कंप्यूटर ही कह सकते हैं क्योंकि यह शब्द हमारी लाइफ का हिस्सा बन गया हैं और सभी इस उपकरण को इसी नाम से जानते हैं।

सवाल – कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया था ?

जबाब – Charles Babbage ने 19 वी शताब्दी के आरम्भ में सबसे पहले कंप्यूटर का अविष्कार किया था, यह एक मैकेनिकल कंप्यूटर था।

सबसे पहला प्रोग्रामिंग कंप्यूटर 1943 में बना था यह किसी एक के नहीं बल्कि बहुत सारे लोगो के अथक प्रयासों का नतीजा था। भौतिक विज्ञानी जॉन मौचली, इंजिनियर J. Presper Eckert Jr. व इनके साथियों ने पेनसिलवेनिया विश्वविद्यालय में पहला डिजिटल कंप्यूटर बनाया था जिसका नाम EINAC (Electronic Numerical Integrator and Computer) था।

सवाल – कंप्यूटर का पूरा नाम क्या हैं ?

जबाब – कंप्यूटर का पूरा नाम या फुल फॉर्म “Commonly Operated Machine Particularly Used in Technical and Educational Research” हैं ।

सवाल – भारत के सबसे पहले सुपर कंप्यूटर का क्या नाम हैं?

जबाब परम शिवाय को भारत के पहले सुपर कंप्यूटर के नाम से जाना जाता हैं।

अंत में –

हमने हिंदी में कंप्यूटर computer in hindi के बारे में आपको जानकारी देने का प्रयास किया। उम्मीद है कि आपको काफी पता चल गया होगा कि computer kya hai.

चाहे computer name in hindi हो या computer meaning in hindi हो, हमने सबके बारे में बारीकी से पता होना चाहिए । इसलिए हमने जरुरी चीजों का ही लेख में उल्लेख किया हैं।

अगर आप कंप्यूटर के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं तथा आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भुला एवं हमे कमेंट करके भी जरूर बताए।

अन्य पढ़े –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *