दिल्ली के 11 प्रसिद्ध पर्यटन स्थल | Delhi Tourist Places in Hindi

दिल्ली के मुख्य पर्यटन स्थल (Delhi Tourist Places in Hindi) दिल्ली कब जाना चाहिए, पर्यटन स्थल खुलने का समय, स्थान, मंदिर, बाज़ार (Delhi Visiting Places for Tourist, Visiting Time, Weather, Places, Temple, Market in Hindi)

delhi-tourist-places-hindi-दिल्ली-पर्यटन-स्थल
दिल्ली के मुख्य पर्यटन स्थल – Delhi Tourist Places in Hindi

अगर आप देश में कहीं घूमने की तैयारी कर रहे हैं और आप की लिस्ट में दिल्ली नहीं है तो शायद आपको एक बार फिर अपनी लिस्ट को बनाने की जरूरत पड़े। क्योंकि दिल्ली सिर्फ देश की राजधानी या राजनीति के लिए प्रसिद्ध नहीं है यह एक बहुत खूबसूरत शहर है। इस शहर में आपको कई बेहद खूबसूरत दर्शनीय स्थल देखने के लिए मिल जाएंगे। पूरी दुनिया भर से लोग दिल्ली में बने पुराने किले तथा और कई अन्य खूबसूरत जगह को देखने के लिए हर साल बड़ी तादाद में आते हैं। महामारी के बाद दिल्ली पर्यटन स्थल खुले (Delhi Tourist Places Open) है आप यहाँ घूमने के लिए आ सकते है। तो आइये जानते हैं कुछ बेहद ही आकर्षण वाले दिल्ली के मुख्य टूरिस्ट प्लेस के बारे में –

1. लाल किला – Red Fort Delhi Tourist Places in Hindi

red-fort-delhi-tourist-places-in-hindi
लाल किला

लाल किले का निर्माण 1638 से 1648 ईस्वी के बीच में शाहजहां द्वारा कराया गया था लाल बलुआ पत्थरों से निर्मित यह किला 250 एकड़ जमीन में फैला हुआ है लाल किले को भारत की शान के रूप में जाना जाता है क्योंकि यहां पर हर साल भारत के प्रधानमंत्री द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाता है। लाल किले के अंदर देखने लायक बहुत सारी चीजें हैं, यहां एक बेहद सुंदर संग्रहालय भी बना हुआ है जिसमें मुगल काल से जुड़े हुए दस्तावेज व औजार भी रखे हुए हैं। यह किला मुगल वास्तुकला व पुरानी भारतीय शैली का एक अभूतपूर्व गठजोड़ है।

किले के अंदर मुमताज महल तथा रंग महल है जिसमें से मुमताज महल को अब संग्रहालय के रूप में बदल दिया गया है जहां पर मुगल विरासत से जुड़ी कई महत्वपूर्ण चीजें रखी हुई है। यदि आप लाल किला घूमते हैं तो आपको मुगल काल से जुड़ी हुई कई चीजे देखने को मिलेगी एवं लाल किले की सुंदर वास्तुकला के भी दर्शन होंगे।

2. लोटस टेम्पल – Lotus Temple Delhi Tourist Places in Hindi

lotus-temple-दिल्ली-मुख्य-पर्यटन-स्थल
लोटस टेम्पल

लोटस टेम्पल या कमल मंदिर दिल्ली में स्थित एक बहुत ही प्यारा कमल के फूल की आकृति का बना मंदिर हैं। इस मंदिर का निर्माण बहाई समुदाय में विश्वास रखने वाले लोगो को ध्यान में रखकर किया गया था। लोटस टेम्पल को हर वर्ष 30 से 40 लाख लोग देखने के लिए दुनिया भर से आतें हैं। यह मन्दिर 13 नवम्बर 1986 में को बनाकर पूरा हो गया था, तथा आम लोगो के भ्रमण के लिए इसे 24 दिसम्बर 1986 को खोल दिया गया था।

प्रसिद्ध ईरानियन-अमेरिकन वास्तुविद्‍ फरिबोर्ज़ सहबा ने लोटस टेम्पल का डिजाईन तैयार किया था तथा यूके की फिल एंड निल नामक फ़र्म ने मंदिर को बनाकर तैयार किया था। अगर आप कभी दिल्ली आते हैं तो लोटस मंदिर की बेहद आकर्षित वास्तुकला एवं इसके अन्दर की अशीम शांति का सुखद अनुभव करना ना भूले।

3. इंडिया गेट – India Gate Delhi Tourist Places List in Hindi

india-gate-delhi-tourist-places-in-hindi
इंडिया गेट

इंडिया गेट देश के सबसे चर्चित टूरिस्ट स्थलों में से एक हैं। इंडिया गेट एक युद्ध स्मारक हैं जिसका निर्माण ब्रिटिश सरकार द्वारा सन 1917 में कराया गया था इसका डिज़ाइन सर एडविन लुटियन द्वारा तैयार किया गया था, एडविन युद्ध स्मारक बनाने के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध थे। इंडिया गेट की उचाई 42 मीटर हैं, जहाँ से दिल्ली का खूबसूरत नजारा दिखाई देता हैं, लेकिन इसके ऊपर जाने की सख्त मना हैं।

इंडिया गेट की दीवारों पर भारत के 13,218 वीर शहीद सैनिको के नाम अंकित हैं, जिन्होंने ब्रिटिश शासन में सेवा करते हुए कई अलग-अलग युद्धों में अपनी जान गवाई थी। इंडिया गेट को देखना ना केवल आपको दुनिया की बेहतरीन वास्तुकला से परिचित करता हैं तथा इसके आलावा देशभक्ति की भावना का सम्मान भी कराता हैं। इंडिया गेट के ठीक सामने राजपथ हैं, तथा पास में ही और देखने लायक जगह जैसे अमर जवान ज्योति व राष्ट्रीय युद्ध स्मारक आदि हैं।

4. हुमायूं का मकबरा – Humayun’s Tomb Delhi Tourist Places in Hindi

humayun-ka-makbara-नई-दिल्ली-पर्यटन-स्थल
हुमायूँ का मकबरा

हुमायूं का मकबरा देश की राजधानी दिल्ली में स्थित मुगल सम्राट हुमायूं का मकबरा है। इस मकबरे का निर्माण 1558 के आसपास हुमायूं की पहली तथा मुख्य पत्नी बेगा बेगम ने करवाया था। इस मकबरे का डिजाइन मीरक मिर्जा घियास तथा उनके बेटे सैयद मोहम्मद ने तैयार किया था। कहा जाता है कि इस मकबरे का निर्माण हुमायूं की मौत के 10 साल बाद किया गया था।

हुमायूं के मकबरे की असली शान इस का बगीचा है जो करीब 30 एकड़ भूमि में फैला हुआ है। यहां पर आपको विभिन्न तरह के आकर्षक फूलों की किस्में देखने को मिल जाएगी, मकबरे तथा आकर्षक बगीचे के अलावा भी यहां कई अन्य स्मारक बनी हुई है। मकबरे के अंदर ही आपको ईशा खान की कब्र, अफसर वाला मकबरा, अरब सराय आदि देखने को मिल जाएंगे तथा परिसर के बाहर नीला बुर्ज नामक मकबरा भी आकर्षण का केंद्र है।

5. क़ुतुब मीनार – Kutub Minar Delhi Tourist Places in Hindi

kutub-minar-delhi-tourist-places-in-hindi
कुतुबमीनार

हिंदुस्तान में बहुत ही कम लोग ऐसे होंगे जिन्होंने कुतुब मीनार के बारे में नहीं सुना हो। क़ुतुब मीनार दिल्ली के महरौली क्षेत्र में स्थित ईटों से बनी विश्व की सबसे ऊंची मीनार है जिसकी ऊंचाई 72 .5 मीटर है। कुतुबमीनार को यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर में भी शामिल किया गया है कुतुब मीनार का निर्माण सन 1192 में कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा शुरू कराया गया था, वह सिर्फ इसका आधार ही पूरा करा सके थे। आगे चलकर इसका निर्माण अल्तमश ने तीन मंजिला बनाकर व 1368 में फिरोजशाह तुगलक ने अंतिम मंजिल बनाकर पूरा किया।

इतिहास बताता है कि सन 1505 में आए भूकंप से कुतुबमीनार को काफी ज्यादा क्षति हुई थी जिसके कारण सिकंदर लोदी ने इसकी मरम्मत कराई थी।

यह 5 मंजिला इमारत दिल्ली में आए लाखों टूरिस्ट के आकर्षण का केंद्र है तथा विश्व का एक प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल भी है। अगर आप दिल्ली आते हैं तो कुतुबमीनार को देखना ना भूलें क्योंकि यहां पर आकर आपको 11-12वी सदी की वास्तुकला देखने को मिलेगी।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > स्विट्ज़रलैंड की सबसे सुन्दर जगह

6. जंतर मंतर – Jantar Mantar Delhi Tourist Places in Hindi

jantar-mantar-delhi-tourist-places-in-hindi
जंतर-मंतर

दिल्ली के जंतर मंतर का निर्माण महाराजा जयसिंह द्वितीय ने 1724 ने करवाया था। यह एक खगोलीय वेधशाला है जिससे सूर्या व अन्य ग्रहों की चाल की गणना की जाती थी। जयपुर शहर को बसाने वाले राजा जयसिंह दित्तीय ने ऐसे ही चार और जंतर-मंतर का निर्माण कराया था जो जयपुर, मथुरा, वाराणसी, व उज्जैन में स्थित हैं। ग्रहों की गति व दशा का मापन करने के लिए यहाँ कई खगोलीय यंत्र लगाये गए हैं। ग्रहों की जानकारी प्रदान करने के काम सम्राट यंत्र करता हैं, मिस्र यंत्र से पुरे दिन की अवधि का मापन किया जा सकता हैं, राम यंत्र व जय प्रकाश यंत्र खगोलीय पिंडो की गति से अवगत करने का काम करते हैं।

पुराने समय की इन तकनिकी यंत्रो को देखने के लिए काफी अधिक संख्या में टूरिस्ट जंतर मंतर घूमने आते हैं एवम इसके इतिहास से भी परिचित होते हैं।

7. अक्षरधाम मंदिर – Akshardham Temple Delhi Tourist Places in Hindi

akshardham-mandir-delhi-tourist-places-in-hindi
अक्षरधाम मंदिर

अक्षरधाम मंदिर दिल्ली का एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है। यह मंदिर अपने अद्भुत डिजाइन कलाकृति के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध है इस मंदिर के निर्माण में लोहे, सीमेंट व स्टील को उपयोग नहीं किया गया है इसे संगमरमर के पत्थरों की सहायता से बनाया गया है।

अक्षरधाम मंदिर आम जनता के लिए 6 नवंबर 2005 को प्रमुख स्वामी महाराज तथा डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम, मनमोहन सिंह व लालकृष्ण आडवाणी जी की उपस्थिति में आम जनता के लिए खोला गया था। अगर आप इस सदी में बनाए गए किसी अद्भुत मंदिर को देखने का विचार कर रहे हैं अक्षरधाम मंदिर को देखने का एक बार जरूर विचार करे, यहां आकर आपको असीम शांति का अनुभव होगा।

सोमवार के दिन मंदिर श्रद्धालियो के आने के लिए बंद रहता है अन्य दिन मंदिर सुबह 5 बजे से शाम के 6:30 बजे तक खुला रहता है।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > कम पैसो में भी रानीखेत घूमना दे सकता है आपको यूरोप वाला मजा

8. जामा मस्जिद – Jama Masjid Delhi Famous Places in Hindi

jama-masjid-visit-delhi-tourist-places-in-hindi
जामा मस्जिद

पुरानी दिल्ली में लाल किले के पास स्थित जामा मस्जिद का निर्माण शाहजहां ने 1656 ईस्वी में कराया था। मुस्लिम समाज को यह मस्जिद बहुत प्रिय है इसे देश की सबसे बड़ी मस्जिद भी कहा जाता है जामा मस्जिद में एक साथ 25000 श्रद्धालु नमाज अदा कर सकते हैं। रमजान के दिनों में यहाँ नमाज पढने वालो का सबसे अधिक संख्या रहती हैं।

9. सफदरगंज का मकबरा (Safdarganj’s Tomb)

अवध के नवाब शुजा उद दौला ने अपने पिता सफदरगंज की याद में वर्ष 1753 में सफदरगंज के मकबरे का निर्माण कराया था। तीन सौ वर्ग किलोमीटर में फैला यह मकबरा अपने सुंदर लाल बलुआ पत्थर व प्रभावशाली आकृति के लिए पूरे देश भर में जाना जाता है। इस मकबरे में सफदरगंज के मकबरे के साथ-साथ अन्य नौ कब्रे भी है जो बहुत ही खूबसूरती से बनाई गई है।

यदि आप दिल्ली में है और दिल्ली के अन्य दर्शनीय स्थलों को देख रहे हैं तो सफदरगंज के मकबरे को देखना ना भूलें। यहां कई फूलों की किस्मों का बगीचा, सुंदर आकर्षक दीवारें आपको यहां की शिल्प कला की तारीफ करने से नहीं रोक पाएगी।

10. संसद भवन (Parliament House)

संसद भवन संसद की कार्यवाही के लिए जाना जाता हैं यह एक वृताकार विशालकाय भवन हैं। इसका निर्माण 1921 से 1927 के बीच वास्तुकारों एडविन लटियंस व हर्बर्ट बेकर के बनाये गए डिजाईन के अनुसार किया गया था। जब संसद भवन में कोई कार्यवाही नहीं चलती तब छात्र व अन्य व्यक्ति संसद भ्रमण के लिए जा सकते हैं। संसद की सभी इमारते देखने के लिए 40-50 के समूहों में लोग जाते हैं तथा उनके साथ स्टाफ का एक सदस्य संसद का इतिहास बताने के लिए भी जाता हैं।

अपने देश के संसद भवन को देखना भी एक सुखद अनुभव रहता हैं। अगर बात करे इसकी वास्तुकला की तो यह सुन्दरता का एक उत्कृष्ट नमूना हैं, कई तरह के फूलो की किस्मो से भरा बगीचा, फब्बारे, कक्षों में लगे राष्ट्रीय नेताओ के चित्र इसकी सोभा बढ़ाते हैं।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > धरती के स्वर्ग “कश्मीर” की बेहद खूबसूरत जगह

11. वेस्ट टू वंडर पार्क (Waste to Wonder Park)

अगर आप दुनिया के सात अजूबे भारत में ही देखना चाहते हैं तो दिल्ली में आप की यह ख्वाहिश पूरी हो सकती है। दिल्ली में एक पार्क है जिसे वेस्ट टू वंडर पार्क कहा जाता है। यहां पर आपको ताजमहल, एफिल टावर, पीसा की झुकी मीनार, मिस्र का पिरामिड आदि दुनिया के सभी अजूबे देखने को मिल जाएंगे।

इस पार की सबसे रोचक बात यह है कि यहां यहां बनाए गए सभी अजूबे कचरे से तैयार किए गए हैं इसीलिए इससे वेस्ट टू वंडर पार्क के नाम से जाना जाता है शाम के समय यहां घूमना एक अलग ही नजर आता है क्योंकि तब रात के अंधेरे में सभी अजूबे रंग बिरंगी लाइटों से सराबोर होते हैं।

दिल्ली के अन्य प्रमुख पर्यटन/दर्शनीय स्थल (Delhi Tourist Places List in Hindi)

स्थल स्थान
राजघाटलाल किले के पीछे, पुरानी दिल्ली
राष्ट्रीय संग्रहालय राष्ट्रीय जनपथ मार्ग, केंद्रीय सचिवालय
पुराना किला मथुरा मार्ग, चिड़ियाघर के पास
आजाद हिन्द ग्राम राष्ट्रीय राजमार्ग, टीकरी कलान
खुनी दरवाज़ा बहादुरशाह जफ़र मार्ग, दिल्ली गेट के निकट
निज़ामुद्दीन दरगाह बोआली गेट मार्ग, निज़ामुद्दीन
गाँधी स्मृति नेशनल डिफेंस कॉलेज के सामने, तीस जनवरी मार्ग
तुगलकाबाद किला तुगलकाबाद, नई दिल्ली
अग्रसेन की बावड़ी हैली मार्ग, क्नॉट प्लेस के समीप

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > गुजरात के ये टूरिस्ट प्लेस है यूरोप व अमेरिका में भी प्रसिद्ध

दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर (Temples)

मंदिर/गुरुद्वारा स्थान
बिरला मंदिर (लक्ष्मीनारायण मंदिर )मंदिर मार्ग, गोल मार्केट, क्नॉट प्लेस
गुरुद्वारा बंगला साहिबबाबा खड़क सिंह मार्ग, क्नॉट प्लेस
इस्कॉन मंदिरसंत नगर, पूर्वी कैलाश
गौरी शंकर मंदिरचांदनी चौक
छतरपुर मंदिरमुख्य छतरपुर मार्ग
कालकाजी मंदिरकालकाजी मेट्रो स्टेशन

दिल्ली के प्रमुख बाज़ार (Market)

बाज़ार स्थान
चावड़ी बाज़ार चाँदनी चौक
सरोजिनी बाज़ार सरोजिनी नगर
क्नॉट प्लेस हनुमान सड़क, क्नॉट प्लेस
चाँदनी चौक बाज़ारनई सड़क,रघु गंज, चाँदनी चौक
खान मार्केट हुमायूँ मार्ग, रविंदर नगर
करोल बाग करोल बाग
लाजपत नगरलाजपत नगर, नई दिल्ली

क्या दिल्ली पर्यटन स्थल खुल चुके है? (Tourist Places in Delhi Open Now)

बहुत लोग इस बात को जानना चाहते हैक्या दिल्ली के पर्यटन स्थल कोरोना महामारी के बाद खुल गए है? आपसे बता दे कि दिल्ली के सभी पर्यटन स्थल पूरी तरह से खुल चुके है अब जब चाहे यहाँ घूमने का आनंद उठाने आ सकते है!

Yes, Tourist Places in Delhi Open Now after Lockdown. You can come Delhi any time to explore your Favorite Places.

दिल्ली घुमने का सबसे अच्छा समय (Best Time)

वैसे तो दिल्ली के पर्यटन स्थलों को किसी भी मौसम में देखना एक सुखद अनुभव ही होगा, परन्तु सर्दी के मौसम में घूमना और अधिक आनंदायक होगा। दिल्ली में गर्मी ठीक-ठाक होती हैं, यदि आप यहाँ की गर्मी से बचना चाहते हैं तो अक्टूबर से मार्च का समय आपके लिए दिल्ली घुमने के लिए बहुत ही अनुकल होगा।

FAQ (सवाल-जबाब)

सवाल – दिल्ली में क्या-क्या प्रसिद्ध हैं?

जबाब – दिल्ली देश की राजधानी होने के साथ-साथ एक एतिहासिक राज्य भी हैं, यहाँ पर राजा-महाराजो के ज़माने के बने किले एवं इमारते देखने के लिए पुरे संसार से पर्यटक आते हैं। तथा यहाँ का खान-पान व बाज़ार भी बहुत प्रसिद्ध हैं।

सवाल – दिल्ली में घुमने के लिए कम खर्च में यात्रा कैसे कर सकते हैं?

जबाब – दिल्ली में डीटीसी (DTC) बसे यात्रा का सबसे सस्ता साधन हैं। आप डीटीसी बसों का पास बस के कंडक्टर से बनवा सकते हैं, जिसके लिए आपको AC बस के लिए लगभग 60 या 70 रूपये एक दिन के व Non-AC बसों के पास के लिए उस से भी कम ही देने होंगे। इसके बाद आप दिल्ली में कही भी लाल व हरे रंग की डीटीसी बसों में पास की सहायता से घूम सकते हैं आपको टिकट लेने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

सवाल – दिल्ली से पहले भारत ही राजधानी कौन-सा शहर था?

जबाब – कोलकत्ता, दिल्ली से पहले भारत की राजधानी था।

सवाल – दिल्ली भारत की राजधानी कब बनी?

जबाब – दिल्ली 13 फरवरी, 1931 को भारत की राजधानी बनी।

आज हमने क्या जाना?

आज हमने दिल्ली के मुख्य पर्यटन स्थल (Delhi Tourist Places in Hindi) के ब्लॉग में कुछ महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल के बारे में जाना। यदि आप देश के पर्यटन स्थलों को देखने का विचार कर रहे हैं तो आपको एक बार दिल्ली के आकर्षक व कई वर्षो पुराने किलो को जरूर देखना चाहिए।

हम इस पोस्ट के साथ कुछ चर्चित टूरिस्ट प्लेस की सूची लाये हैं, उम्मीद हैं आपको यह पोस्ट अवश्य ही पसंद आई होगी।

अन्य पोस्ट पढ़े –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *