DRDO की कोरोना रोकथाम दवा 2DG क्या हैं कैसे काम करती हैं | DRDO 2DG Medicine in Hindi

DRDO 2dg Medicine in Hindi, drdo ki corona drug 2dg kya hai (2dg full form corona medicine in hindi) DRDO की एंटी-कोविड दवा 2DG क्या हैं कैसे काम करती हैं (2dg for Covid)

कोरोना की दूसरी लहर ने देश में हर तरफ़ कोहराम मचा रखा हैं। प्रत्येक भारतवासी प्राथना व कोशिश कर रहा कि देश इस महामारी से जल्दी निकल जाये। हमार वैज्ञानिक एवं डॉक्टर अपना हर संभव प्रयास लोगो को बचाने के लिए कर रहे हैं । ऐसे ही एक प्रयास को मूर्त रूप दिया हैं DRDO के वैज्ञानिको ने।

drdo-corona-2dg-medicine-in-hindi

DRDO के वैज्ञानिको ने 2-DG नामक दवाई का निर्माण किया हैं जो कोरोना महामारी में वरदान साबित होगी। इस दवा को DCGI (ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया) से भी उपचार में उपयोग करने के लिए मंजूरी मिल चुकी हैं। आइये जानते हैं 2DG दवा कैसे बनी हैं, किन मरीजो को दी जाएगी व कोरोना रोकथाम में यह कैसे काम करती हैं।

Covid प्रवाभी दवाई का नाम 2-DG
2-DG full form 2-deoxy-D-glucose
किसे दी जाएगी 2-DG आपातकालीन स्तिथि के मरीजो को
किसने विकसित किया यह ड्रग INMAS व डॉ रेड्डी लैब नें साथ मिलकर
2-DG दवाई की कीमत अभी तय नहीं हुई

2-DG क्या हैं, इसका पूरा नाम क्या हैं? (2dg medicine in hindi and 2dg full form)

2-DG रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा तैयार की गई एक दवाई हैं जो कोरोना के मरीजो के लिए बहुत लाभदायक हैं। इस दवा का पूरा नाम 2-deoxy-D-glucose हैं।

किसने तैयार की हैं 2-deoxy-D-glucose

इस दवाई का विकास DRDO के परमाणु चिकित्सा और संबंद्ध विज्ञान संस्थान ने हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डी लैब के साथ मिलकर किया गया हैं।

2-deoxy-D-glucose कैसे काम करती हैं (How 2dg works in covid)

हम अपने आस पास देख सकते हैं कि कोरोना वायरस की बजह से लोगो को श्वास लेने में परेशानी आ रही हैं जो उनकी मौत का कारण बन रही हैं। अगर 2 DG corona covid-19 medicine के काम करने की बात करे तो यह दवाई उन लोगो के लिए बेहद कारगर है जिन पर कोरोना विषाणु का बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ा हैं। यह दवा उन लोगो के लिय बहुत लाभदायक हैं जिन्हें साँस लेने में काफी दिक्कत आ रही हैं। यदि ऐसे व्यक्ति को इस दवाई का सेवन कराया जाये तो उस व्यक्ति को ऑक्सीजन लेने में आ रही समस्या में बहुत अधिक फायदा होगा तथा वह जल्द ही ठीक हो जाएगा।

आप समझ गए होंगे की यह दवा सिर्फ ऐसे मरीजो को दी जायेंगी जो आपातकालीन स्तिथि में हैं। जो मरीज वायरस की प्रारंम्भिक स्टेज में हैं उन्हें यह दवाई नहीं दी जाएगी।

2-DG का विकास कैसे किया गया व कितने ट्रायल के बाद इसे मंजूरी मिली?

डीआरडीओ के 2 DG प्रोज़ेक्ट के डायरेक्टर व वैज्ञानिक डॉ सुधीर चन्दन ने बताया कि यह मेडिसिन कैसे विकसित की गई। उनके अनुसार जब अप्रैल 2020 में कोरोना भारत में चरम पर था तब यह दवाई विकसित की गई थी। उनकी टीम ने परिक्षण में पाया कि 2-deoxy-D-glucose शरीर में कोरोना विषाणु को फैलने से रोक रही हैं। ऐसे परिणाम देखते हुए डीआरडीओ के वैज्ञानिको ने डीसीजीआई से दवाई के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी मांगी। मई 2020 में 2-DG के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी मिल गई। अक्टूबर 2020 तक इस दवाई के 2 परिक्षण पूर्ण कर लिए गए और परिणाम बहुत अच्छा आये थे।

अगर फेज 2 की बात करे तो इसमें 110 मरीजो को यह दवाई दी गई थी, जिन मरीजो को दवाई दी गई थी उनमे कोरोना के लक्षण बेहद हद तक कम हुए। एवं उन्हें ऑक्सीजन लेने में आ रही परेशानी भी बेहद कम हुई। पुरे परिपेक्ष को देखा जाये तो जिन मरीजो को यह दवाई दी गई थी वो जल्दी ठीक हो गए।

फेज 3 में लगभग 200 लोगो पर परिक्षण में देखा कि जो मरीज अस्पताल में भर्ती हैं और मौत से लड़ रहे हैं उनको यह दवाई जल्दी रिकवर कर रही है एवं उनकी ऑक्सीजन पर निर्भरता भी कम कर रही हैं। इस ट्रायल में देखा गया हैं कि जिन मरीजो को यह दवा दी गई उनकी ठीक होने के गति तेज हुई व उनका RT-PCR टेस्ट भी नेगेटिव आया हैं।

2-DG कैसे कोरोना को काबू में करती हैं व शरीर में ऑक्सीजन की कमी को कैसे पूरा करती हैं?

डीआरडीओ के वैज्ञानिको ने यह भी बताया कि कैसे यह दवा कोरोना को काबू में करती हैं तथा शरीर में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करती हैं। 2DG ग्लूकोस की तरह दिखती हैं एवं इसको खाने का तरीका भी लगभग वैसा ही हैं। जब इसे खाया जाता हैं तो यह पुरे शरीर में फ़ैल जाती हैं। शरीर में जाकर दवा उन सेल्स पर पहुँचती हैं जिन पर कोरोनावायरस का आक्रमण हुआ हैं। यह दवा वायरस के सेल्स की ग्रोथ को रोक देती हैं तथा एंटी बॉडी बनाती हैं। जिसके कारण मरीज की इम्युनिटी पर ज्यादा असर नहीं पड़ता, एवं वह ठीक होने लगता है।

कोरोना से मृत्यु का सबसे बड़ा कारण फेफड़ो में संक्रमण होना हैं जिसकी बजह से लोगो का ऑक्सीजन लेवल बहुत गिर जाता हैं। 2-deoxy-D-glucose फेफड़ो में corona से होने वाली क्षति रोकता हैं तथा मरीज में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करता हैं।

DRDO कोविड दवाई 2DG के साइड इफ़ेक्ट (Side effects of drdo 2dg medicine in hindi)

जब डॉ सुधीर चन्दन से डीआरडीओ एंटी ड्रग के साइड इफ़ेक्ट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि इस दवाई के सभी ट्रायल माध्यमिक व गंभीर रूप से बीमार लोगो पर किये गए हैं। सभी मरीजो को 2dg से फायदा ही हुआ हैं किसी में कोई साइड इफ़ेक्ट नही देखा गया। इसलिए हम मान सकते हैं यदि हम डॉक्टर की सलाह से DRDO 2 DG का सेवन करते हैं तो हमे कोई साइड इफ़ेक्ट देखने को नहीं मिलेंगे।

कैसे उत्पादन किया जाएगा 2-DG का (Menufacturing of 2dg)

यदि 2-dg के उत्पादन की बात करे तो DRDO (Defence Research and Development Organisation) ने बताया कि इस दवाई को देश में ही बहुत अधिक मात्रा में उत्पादित किया जा सकता हैं। यह एक जेनेरिक मॉलिक्यूल एवं ग्लूकोस की तरह हैं इसलिए इसे बनाने के लिए हमारे पास सभी संसाधन उपलब्ध हैं।

2-DG का सेवन कैसे करे (How to consume 2dg for corona)

एंटी कोविड ड्रग 2-deoxy-D-glucose (2-DG) को पाउडर के रूप में विकसित किया गया हैं। इस दवा को मरीज पानी में घोलकर ले सकता हैं बिल्कुल उसी तरह जैसे हम ग्लूकोस पाउडर लेते हैं।

2-DG की कीमत कितनी होगी? (Price of 2dg medicine in hindi)

2-डीजी की कीमत के बारे में अभी तक कोई भी अधिकारिक रिपोर्ट सामने नहीं आई हैं। फिर भी माना जा रहा हैं कि इस दवाई की कीमत 500 से 600 रूपये तक हो सकती हैं।

FAQ

सवाल – DRDO द्वारा कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए विकसित किये ड्रग का क्या नाम है?

जबाब – इस ड्रग का नाम 2-deoxy-D-glucose हैं जिसे 2-DG के नाम से भी जाना जाता हैं।

सवाल – किन मरीजो को 2-DG दवाई दी जाएगी?

जबाब – यह दवाई उन मरीजो को दी जाएगी जिनकी हालात बेहद नाजुक हैं।

सवाल – क्या 2 DG दवाई आप मेडिकल स्टोर से खरीद पाएंगे?

जबाब – अभी इस बारे में सरकार द्वारा कोई जानकारी प्राप्त नहीं कराई गई हैं।

सवाल – क्या कोई भी कोरोना संक्रिमित व्यक्ति 2-DG दवाई का सेवन कर सकता है?

जबाब – जैसे हम जानते हैं 2-deoxy-D-glucose या 2 DG दवा आपातकालीन मरीजो के लिए है इसलिए यह दवाई बिना डॉक्टर की सलाह के ना ले।

अंत में –

इस पोस्ट में हमने 2dg medicine in hindi जाना। यह बात ध्यान रखने योग्य हैं कि DRDO का कोविड-19 एंटी ड्रग 2dg सिर्फ उन मरीजो को दिया जाना हैं जिनकी हालत काफी गंभीर हैं। इसलिए बिना किसी कारण कोरोना की इस दवाई को या किसी और दवाई को ना ख़रीदे। डॉक्टर की सलाह से ही दवाई का सेवन करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *