चुटकियों में ऐसे कम करे मोटापा, हमेशा के लिए कम | Motapa Kya Hai

मोटापा क्या है (Motapa Kya Hai) मोटापा कम कैसे करे, मोटापा कम करने के घरेलू उपाय (Motapa Kaise Kam Kare, Motapa Kam Karne Ka Tarika, Obesity in Hindi)

obesity-motapa-kya-hai-kaise-kam-kare-in-hindi
मोटापा क्या है – Motapa Kaise Kare

कुछ रोग ऐसे होते है जिन्हें हम रोग सोचते ही नहीं क्योंकि वे हम उनका नुकसान प्रत्यक्ष रूप से नहीं देख सकते। मोटापा एक ऐसी ही बीमारी है जिसे हम बीमारी मानते ही नहीं, लेकिन इसके दुष्परिणाम बहुत भयंकर होते है। मोटापे से कई घातक रोग जैसे हृदय घात, मधुमेह, शरीर में दर्द जैसी समस्याएँ होती देखी गयी है। आइये जानते है मोटापा क्या है तथा मोटापा कैसे कम करे?

मोटापा क्या है? (Motapa Kya Hai)

मोटापा एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें व्यक्ति का वजन सामान्य से अधिक हो जाता है। ऐसा शरीर में वसा की मात्रा बढ़ जाने के कारण होता है।

कभी-कभी तो यह स्थिति इतनी गंभीर हो जाती है कि पीड़ित व्यक्ति चलने में भी परेशानी महसूस करता है। मोटापा अधिक बढ़ने के कारण व्यक्ति कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त हो सकता है जैसे-सांस फूलना, शुगर, हृदय रोग आदि। इनमें सांस फूलने की समस्या सबसे पहले दिखाई देती है। थोड़ी दूर चलने या थोड़ा सा भी काम करने पर ही व्यक्ति का सांस फूलने लगता है और उसका स्वास्थ्य खराब रहने लगता है।

मोटापा बहुत सी बीमारियों की मूल होती है इसे सही समय पर नियंत्रित करना बहुत ही ज्यादा आवश्यक होता है। और यह समस्या बच्चों में भी देखी जा सकती है।

मोटापा होने के कारण (Causes of Obesity in Hindi)

आमतौर पर मोटापा होने के कई कारण होते हैं। मोटापा एकदम से नहीं आता, यह धीरे-धीरे ही बढ़ता है इसके लिए हमारी दिनचर्या जिम्मेदार होती हैं। मोटापा बढ़ने के और भी कई कारण हैं जो इस प्रकार है –

  • मोटापा अधिकतर फैट युक्त भोजन खाने के कारण होता है।
  • उचित व्यायाम न करने के कारण
  • बहुत ही कम शारीरिक परिश्रम करने के कारण
  • यदि तनाव की स्थिति में अधिक भोजन किया जाए तो वजन बढ़ जाता है।
  • विटामिन डी की कमी के कारण
  • वजन बढ़ने का सबसे मुख्य कारण ऊर्जा के सेवन और ऊर्जा के उपयोग के बीच असंतुलन होता है।
  • अधिक कैलोरी वाले भोजन का सेवन करने के कारण पर्याप्त मात्रा में नींद न लेने के कारण हारमोंस परिवर्तन हो सकते हैं जिससे भूख बढ़ जाएगी और मोटापे की समस्या पैदा हो सकती है।

मोटापे के लक्षण (Symptoms of Obesity in Hindi)

मोटापा एक गंभीर समस्या होती है क्योंकि मोटापा बढ़ने के साथ साथ ही कई बीमारियां जन्म ले सकती हैं यदि आपको मोटापे से बचना है तो समय पर इसके लक्षणों का ध्यान रखना जरूरी होता है।
आगे हम आपको इसके कुछ लक्षणों के बारे में जानकारी देते हैं –

  • मोटापे की स्थिति में व्यक्ति की त्वचा की परत मोटी होने लगती है।
  • यदि आपका वजन बढ़ रहा है तो थोड़ा सा ही काम करने पर आपका सांस फूलने लगेगा। काम करने में परेशानी होने लगेगी।
  • अधिक पसीना आने लगेगा और नींद भी कम हो जाएगी।
  • कुछ दूर चलने पर ही सांस फूलने लगेगा और शरीर के अलग-अलग हिस्सों में आपको सूजन महसूस होगी।
  • मोटापे की स्थिति में आपको शुगर, हृदय रोग जैसी समस्याएं भी दिखाई दे सकती हैं।
  • कमर और जोड़ों में दर्द होना इसका एक मुख्य लक्षण है।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > शीघ्रपतन जड़ से खत्म करे सिर्फ कुछ दिनों में

मोटापे से होने वाली समस्याएं (Motape Ke Nuksan)

मोटापा होने के कारण कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। ये समस्याएं शारीरिक और मानसिक दोनों प्रकार की हो सकती है। मोटापा कई तरह की बीमारियों का कारक होता है। मोटापा बढ़ने से ज्यादातर परेशानी महिला को होती है आइए जानते हैं महिला और पुरुषों में मोटापे के कारण होने वाली परेशानियां ‌कौन-कौन सी है –

1. डायबिटीज या मधुमेह

मोटापा बढ़ने के कारण डायबिटीज की समस्या होना स्वाभाविक होता है क्योंकि मोटापा बढ़ने के साथ ही ब्लड में ग्लूकोज का लेवल बढ़ जाता है और रक्त में शुगर लेवल अधिक हो जाता है जिससे डायबिटीज की समस्या जन्म लेती है और यह समस्या अधिक तब बढ़ जाती है जब हम अपने खानपान का सही तरीके से ध्यान नहीं रखते और अधिक मीठा और फैट युक्त भोजन खाते हैं।

2. हाई ब्लड प्रेशर

मोटापा अधिक होने से व्यक्ति में हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि मोटापे के कारण हृदय पर अधिक दबाव पड़ता है यह दबाव खून के लाल रक्त कोशिकाओं में आदान-प्रदान के समय होता है और इससे रक्त कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचता है। इस स्थिति में शरीर की तंत्रिका तंत्र को भी नुकसान हो सकता है। हाई ब्लड प्रेशर की स्थिति में व्यक्ति थोड़े ही समय में थकान महसूस करने लगता है और उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगती है।

3. गुर्दे की बीमारी

वजन बढ़ने के कारण आपको गुर्दे की समस्या भी हो सकती है। ऐसी स्थिति में रक्त को शुद्ध करने की प्रक्रिया पर प्रभाव पड़ सकता है। यह समस्या और ज्यादा गंभीर तब हो सकती है यदि आपको गुर्दे की बीमारी के साथ-साथ और भी खतरनाक बीमारी हो जैसे कि डायबिटीज आदि। यदि इस बीमारी से आप खुद को बचा कर रखना चाहते हैं तो सही समय पर अपने वजन को नियंत्रित कर ले नहीं तो काफी गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

4. हृदय संबंधी समस्याएं

हृदय संबंधित समस्याएं होने का सबसे मूल कारण मोटापा ही होता है क्योंकि वजन तक बढ़ता है जब आप अधिक मात्रा में या अधिक चिकनाई वाले भोजन का सेवन लगातार काफी समय तक करते रहते हैं, इसका परिणाम यह होता है की शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है और उच्च रक्तचाप के कारण हार्ट अटैक की समस्याएं पैदा हो सकती है। इसीलिए अगर इस तरह के रोग से बचना है तो फैट युक्त भोजन में करके खाने में हरी सब्जियों और सलाद का सेवन करें।

5. अनिद्रा की समस्या

मोटापे के समय अनिद्रा की समस्या एक आम समस्या होती है। इसमें ज्यादातर ऐसा होता है कि मोटापे से ग्रस्त व्यक्ति को रात को सही से नींद नहीं आती और वह दिन में ही नींद महसूस करता है या फिर सोता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वजन बढ़ने के कारण शरीर में भोजन का पाचन सही से नहीं हो पाता जिससे पेट में अपच की समस्या रहती है या फिर अधिक भोजन करने के कारण पेट में भारीपन महसूस होता है और नींद नहीं आ पाती । जिस कारण अनिद्रा जैसी समस्या हो सकती है।

6. मूड में बदलाव की समस्या

मोटापे की स्थिति में कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति के व्यवहार में बार-बार परिवर्तन होता रहता है। और वजन बढ़ने के कारण व्यक्ति चिड़चिड़ा हो जाता है ऐसा हारमोंस बदलाव के कारण होता है जिससे मूड बदलता रहता है। मूड बदलने की स्थिति में कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति अधिक मात्रा में भोजन का सेवन करने लगता है जिससे यह समस्या और अधिक बढ़ सकती है।

7. डिप्रेशन या तनाव

जब व्यक्ति का वजन अधिक हो जाता है तो वह स्वयं को अकेला महसूस करने लगता है उसे लगता है कि अब वह सबसे अलग दिखाई देगा जिससे कि सब उसको दया की दृष्टि से देखेंगे। ऐसे में वह डिप्रेशन का शिकार होने लगता है। यह समस्या ज्यादातर किशोरावस्था में देखी जा सकती है।

क्योंकि मोटापा बढ़ने के कारण किशोर या किशोरी अपने मित्रों के साथ खुद को नीचा समझने लगते हैं और कई बार तो मित्र मोटापे के कारण मजाक भी उड़ाते हैं जिस वजह से व्यक्ति तनाव या डिप्रेशन में जा सकता है। तनाव की स्थिति में यदि व्यक्ति अधिक भोजन का सेवन करने लगे तो यह स्थिति और ज्यादा गंभीर हो सकती है।

👉 लेख पढ़े – नारियल तेल के है अनेक फायदे, जाने सबकुछ

मोटापा कम करने के घरेलू उपाय (Motapa Kaise Kam Kare)

आज के समय में मोटापा एक गंभीर समस्या होती जा रही है। हर 10 में से छह व्यक्ति मोटापे से परेशान है। महिलाओं को तो डिलीवरी के बाद यह समस्या होना आम बात है। मोटापा कम करने के लिए हम कई तरह की दवाइयां लेते हैं लेकिन दवाइयां स्वास्थ्य के लिए अच्छी नहीं होती। इसीलिए हम आपको कुछ घरेलू उपाय बताएंगे जिससे आप अपने शरीर के वजन को कुछ हद तक कम कर सकते हैं या फिर वजन बढ़ने से रोक सकते हैं। आगे जानते हैं आयुर्वेदिक तरीकों से मोटापा कैसे कम करे।

1. शहद और नींबू से मोटापा कम करे

यदि आप नियमित रूप से शहद और नींबू का सेवन एक साथ करते हैं तो मोटापे से काफी हद तक राहत मिलती है। इसके लिए हमें एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद और एक नींबू का रस मिलाकर पीना होगा, आप चाहे तो इसमें दो से चार काली मिर्ची भी डाल सकते हैं । इस मिश्रण का सेवन आपको नियमित रूप से करना होगा तभी अच्छा परिणाम मिलेगा।

2. ग्रीन टी से मोटापा कम करे

ग्रीन टी को भी वजन कम करने में काफी कारगर माना जाता है क्योंकि इसमें एंटी ऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है जिससे बसा को कम करने में मदद मिलती है। ग्रीन टी से संबंधित तो आपने टीवी में विज्ञापन भी देखे होंगे जिसमें बताया जाता है कि किस तरह इसका सेवन करने से मोटापे को नियंत्रित या कम किया जा सकता है। ग्रीन टी का सेवन हमें बिना चीनी के ही करना है और नियमित रूप से इसका सेवन करते रहने से आपका वजन कम हो सकता है।

3. गाजर है इलाज बढ़ते मोटापे का

जैसा कि आप सभी ने सुना होगा कि यदि हम नियमित रूप से किसी फल यह सब्जी के जूस का सेवन करते हैं तो स्वास्थ्य में काफी लाभ होते हैं। इसीलिए माना जाता है कि यदि गाजर के जूस का सेवन नियमित रूप से किया जाए तो निश्चित रूप से आप अपने मोटापे को कम कर सकते हैं और इसका सेवन करने से त्वचा में भी निखार आता है।

4. सौंफ करे मोटापे को कम

सौंफ भी वजन कम करने का एक अच्छा उपाय है क्योंकि यदि इसका सेवन खाना खाने से पहले और खाना खाने के बाद में किया जाए तो भोजन का पाचन अच्छी तरह से होता है और बार-बार भूख नहीं लगती जिससे हम अपने मोटापे को काफी हद तक कम कर पाते हैं। मोटापा कम करने का यह एक सबसे अच्छा उपाय है।

5. सलाद करती है मोटापा कम

यदि आप नियमित रूप से सुबह नाश्ते में हरी सब्जियों की सलाद का सेवन करते हैं तो आपके शरीर में मौजूद फैट धीरे धीरे कम हो सकती है। और आप का वजन कम होने लगेगा जिससे आप अपने आप को स्वस्थ महसूस करेंगे और आप में आत्मशक्ति का विकास होगा। वैसे भी हरी सब्जियों में काफी सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होते हैं।

👉 जरुर पढ़े – एलोवेरा बजन कम करने से लेकर है इसके कई अन्य फायदे

6. नारियल पानी है मोटापे का इलाज

अपने शरीर के मोटापे को कम करने के लिए आप नारियल पानी का भी सेवन कर सकते हैं क्योंकि इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स पाया जाता है जो आपके शरीर के वजन को कम करने में काफी हद तक आपकी मदद कर सकता है। और डॉक्टर भी अच्छे स्वास्थ्य के लिए और मोटापा कम करने के लिए नारियल पीने की सलाह देते हैं।

7. दालचीनी का सेवन करता है मोटापा दूर

यदि हम दालचीनी का सेवन नियमित रूप से करते हैं तो मोटापे को काफी हद तक कम कर सकते हैं। इसको सेवन करने के लिए हमें दालचीनी का दो चम्मच पाउडर लेना होगा और उसको पानी में उबालकर छानन लेंगे ,उसके बाद एक चम्मच शहद मिलाकर खाली पेट इसका सेवन करना होगा। दालचीनी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो शरीर में मौजूद अवांछित पदार्थों को कम कर सकते हैं।

8. गोभी खाए मोटाप भगाए

यदि आप भोजन में पत्ता गोभी का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करते हैं तो काफी हद तक मोटापे को कम किया जा सकता है क्योंकि इसमें टैरटेरिक एसिड पाया जाता है जो शरीर में वसा को बनने से रोकता है इसीलिए यह वजन कम करने में काफी मददगार सिद्ध हो सकता है। पत्ता गोभी का सेवन आप सब्जी के रूप में या फिर सलाद के रूप में भी कर सकते हैं। दोनों ही तरह से यह काफी फायदेमंद होता है।

9. अश्वगंधा से मोटापा कैसे कम करें

यदि आप अश्वगंधा के पत्तों से बनाया हुए काढ़ें का सेवन नियमित रूप से रोजाना खाली पेट करते हैं तो मोटापे से आपको काफी हद तक राहत मिल सकती है। अश्वगंधा शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेबल को कम करने में मदद करता है। यदि नियमित रूप से अश्वगंधा का सेवन किया जाए तो सामान्य से अधिक भूख नहीं लगती और मोटापा भी नहीं बढ़ता है।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > 100% ठीक होगा अपेंडिक्स, अगर आप अपनायेंगे ये उपाए

FAQ (सवाल-जबाब)

मोटापा क्या खाने से बढ़ता है

मोटापा अधिक वसा युक्त चीजे, तेल वाली चीजे आदि खाने से अधिक बढ़ता है। अधिक जानने के लिए ऊपर पोस्ट पढ़े.

क्या मोटापा एक बीमारी है?

वैसे तो मोटापा शरीर की चर्बी का अधिक बढ़ जाना है। लेकिन अब मोटापे को एक बीमारी के तौर पर देखा जाता है, क्योंकि यह घातक रोगों को जन्म देने में बहुत सहायक है।

शरीर का मोटापा कैसे बढ़ता है

शरीर का मोटापा अधिक वसा युक्त खाना, ज्यादा भोजन खाना, अधिक निंद्रा, व्यायाम कम करना, अधिक तनाव में रहने आदि से बढ़ता है।

ध्यान देने योग्य

मोटापा एक आम समस्या बन गयी है इसलिए इसे कम करने में बहुत प्रयास करना पड़ता है। ऊपर बताये गए उपाय से कई लोगो को लाभ हुआ है पर जरुरी नहीं सभी को इससे फायदा हो। मोटापा कम करने के लिए इन उपायों के साथ-साथ प्रतिदिन व्यायाम करना अनिवार्य है।

आज हमने क्या जाना?

आज हमने मोटापा क्या है (Motapa Kya Hai) इस बारे में बात की। हमने मोटापा कम कैसे करे (Motapa Kaise Kam Kare), मोटापा कम करने के घरेलू तरीके (Motapa Kam Karne Ka Tarika), मोटापा के कारण (Causes of Obesity in Hindi) आदि के बारे में भी गहनता से जानकारी प्राप्त की। इस लेख के बारे में अपने सुझाव कमेंट में बताना न भूले।

👉 सबसे अधिक पढ़ी जाने वाली पोस्ट

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *