Raksha Bandhan 2022 Date : कही आप गलत दिन ना मना ले रक्षाबंधन

रक्षा बंधन कब है (Raksha Bandhan 2022 Date) रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है, रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त, महत्व (Raksha bandhan 2022 muhurat time)

raksha-bandhan-2022-date-muhrut
Raksha Bandhan 2022 Date Muhurat- रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त

हम हिन्दू या सनातनी बहुत से पर्व मानते है लेकिन कुछ त्यौहार पुरे संसार को बहुत बड़ी शिक्षा दे जाते है। ऐसा ही एक शिक्षाप्रद त्यौहार है रक्षाबंधन, जिससे हर कोई कुछ न कुछ सीख सकता है! इस त्यौहार की शुरुआत महाभारत काल से हुई, लेकिन अभी तक इसकी गरिमा में तनिक भी कमी नहीं आई है। आइये जानते है रक्षाबंधन क्या है रक्षाबंधन का मुहूर्त कब है?

रक्षाबंधन क्या है? (Raksha Bandhan in Hindi)

रक्षाबंधन हिन्दुओं का एक प्रमुख पर्व है, इस दिन बहने अपने भाइयों को राखी बांधती है। राखी एक धागा होता है जिसे भाई की दाई कलाई पर बांधकर बहने उनसे अपनी रक्षा का वचन लेती है! भाई, बहन के राखी बाँधने के बदले उन्हें पैसे या उपहार भेंट करते है।

रक्षाबंधन का महत्व क्या है? (Importance of Raksha Bandhan in Hindi)

रक्षाबंधन प्राचीन समय से ही भारतीय संस्कृति का एक प्रमुख पर्व रहा है। श्री कृष्ण काल से शुरू होकर यह पर्व आज तक पुरे संसार के हिन्दुओं द्वारा हर्षोउल्लास से मनाया जाता है। राखी का त्यौहार हमे अपनी बहनों की हर दुख, विपदा से रक्षा के शूत्र में बांधता है! यह पर्व हमे स्नेह सिखाता है, त्याग की भवन हमारे भीतर प्रज्वलित करता है। प्यार को बंधन में पिरहोने वाला यह त्यौहार हमे एक-दुसरे का करीब आने का अवसर प्रदान करता है।

रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है? (Why Raksha Bandhan Celebrated?)

रक्षाबंधन पर्व भाई और बहन के मध्य प्रेम को व्यक्त करने एवं उसमे बढ़ोतरी करने के लिए मनाया जाता है। राखी का पर्व हमे सिखाता है कि कैसे भाई की कलाई पर बंधा साधारण से धागा, एक बहन के लिए जीवन भर की रक्षा के कवच के रूप में कार्य करता है। रक्षाबंधन की शुरुआत कैसे हुई इसके लिए आगे पढ़े।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > आज जान ही लीजिये एक्स-रे से होने वाले नुकसान

रक्षा बंधन कब शुरू हुआ?

कहा जाता है महाभारत के समय चेदी नाम का एक राज्य हुआ करता था जिसका राजा था शिशुपाल। जब भगवान श्री कृष्ण ने सुदर्शन चक्र से शिशुपाल का वध किया तो उनकी तर्जनी ऊँगली में घाव हो गया! इस घाव को देखकर रानी द्रोपदी ने अपनी साड़ी फाड़कर उनकी ऊँगली पर बाँध धी। कृष्ण जी ने उनकी ऊँगली पर पट्टी बांधने के कर्ज को रानी द्रौपदी के चीरहरण के समय उनकी साड़ी को बढ़ाकर चुकाया! कहा जाता है तभी से यह रक्षा का पर्व मनाये जाने लगा।

रक्षाबंधन कब है 2022 (Raksha Bandhan 2022 Muhurat Time)

Raksha Bandhan 2022 Date in Hindi : रक्षाबंधन का मुहूर्त 11 अगस्त 10 बजकर 38 मिनट से आरम्भ होकर 12 अगस्त सुबह 7 बजकर 5 मिनट तक रहेगा। इस बार रक्षाबंधन पुरे देश में 11 अगस्त को ही मनाई जाएगी।

राखी बांधने का तरीका क्या है? (Rakhi Kaise Bandhe)

राखी बांधने का सही तरीका विधि-विधान के साथ चलना है। इस दिन बहन को एक थाली में घी का दीपक जलाना चाहिए, साथ में थोड़ा कुमकुम, लड्डू एवं राखी रखनी चाहिए। जब इस तरह से थाली सज जाये तो अपने भाई को बैठाकर उनके माथे पर कुमकुम का टीका लगाए तथा दायें हाथ में राखी बाँध दे। राखी बाँधने के बाद भाई को लड्डू खिलाये, तथा ज्वलित दीप से उनकी आरती उतारते हुई भगवान से अपने भाई की लम्बी उम्र के लिए कामना करे।

FAQ (सवाल-जबाब)

राखी कितने बजे बांधनी चाहिए?

2022 में 11 अगस्त को 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होकर शाम तक बहने अपने भाई को राखी बाँध सकती है। मुहूर्त के बारे में अधिक जानने के लिए पूरी पोस्ट पढ़े.

राखी क्या है भाई के लिए?

राखी एक भाई के लिए बहन की रक्षा के वचनों से भरा एक धागा है! हर भाई अपने बहन को राखी के बदले हर ख़ुशी देने का प्रयास करता है।

क्या हम राखी का व्रत रख सकते हैं?

बहने राखी के दिन उपवास रखती है जब तक वे अपने भाइयों को राखी नहीं बाँध देती। यदि आप चाहे तो राखी के दिन अपने उपवास को बढ़ा भी सकती है लेकिन ऐसा प्रचलन नहीं है।

मैं आशा करती हूँ मेरी सभी बहनों एवं भाइयों को रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त (Raksha Bandhan 2022 Date) का यह लेख बहुत ही ज्यादा पसंद आया होगा। ऐसी ही पोस्ट के लिए हमसे जुड़े रहे तथा एक बार नीचे उल्लेखित हमारी पोस्ट अवश्य पढ़े। धन्यवाद…

सबसे अधिक पसंद की जाने वाली पोस्ट –

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *