10 मिनट में अपनी वेबसाइट कैसे बनाए | How to Make Website in Hindi

हिंदी में वेबसाइट कैसे बनाये (Website Kaise banaye/Create Website in Hindi) वेबसाइट के प्रकार, फायदे, बनाने का तरीका (Types of Website, Benefits, WordPress Website in Hindi)

website-in-hindi
वेबसाइट कैसे बनाये – Website Kaise Banaye

Website kaise banaye के इस ब्लॉग में हम पूर्णता : जानेंगे कि आसानी से हिंदी में वेबसाइट (website in hindi) कैसे बनाए?

हम अपने आस-पास भी देख सकते हैं कि इन्टरनेट का उपयोग कितनी तेजी से बढ़ रहा हैं । हर कोई अपने विकास के लिए या अपने जीवन यापन को और ज्यादा बेहतर करने के लिए इन्टरनेट का प्रयोग कर रहा हैं।

इन्टरनेट के उदय ने वेबसाइट को जन्म दिया है और अब इन्टरनेट की ही तरह वेबसाइट भी लोगो की ज़िन्दगी का ख़ास हिस्सा बन गई हैं।खुद की लोगो से पहचान करनी हो या व्यवसाय को तीव्र गति से बढ़ाना हो, वेबसाइट का इस्तेमाल बहुत जरुरी हो गया है।

अगर आप अपने आस-पास थोडा सा जानने की कोशिश करेंगे तो पाएंगे की बहुत सारे व्यक्तियो ने वेबसाइट से ही बिक्री कर बहुत ज्यादा पैसा कमाया हैं। इसलिए हमारे लिए यह जानना आवश्यक बन जाता है कि वेबसाइट कैसे बनाये, जिस से हम भी बनाकर किसी ना किसी रूप में फायदा उठा सके।

वेबसाइट के बारे में जानने से पहले थोडा जान लेते है कि सबसे पहली वेबसाइट कब, किसने और क्यों शुरू की थी?

वेबसाइट का इतिहास संक्षिप्त में (History of Website in Hindi)

सन् 1989 में ब्रिटेन के कंप्यूटर वैज्ञानिक टिम बर्नर्स ली ने CERN में काम करते हुए World Wide Web का आविष्कार किया। CERN एक केन्द्र हैं जो स्विज़र्लैंड में स्थित हैं जिसे नई-नई वैज्ञानिक खोंजे करने के लिए बनाया गया था इसे European Organization for Nuclear Research भी कहते हैं।

उस समय वेब का आविष्कार विश्वविद्यालयो में कंप्यूटर द्वारा जानकारी को वैज्ञानको के बीच साझा करने को ध्यान में रखकर किया गया था।

वेब का सार्वजनिक आरम्भ अगस्त 6, 1991 को शुरू हुआ जब टिम बर्नर्स ली ने पहली वेबसाइट प्रकाशित की। यह साईट वर्ल्ड वाइड वेब प्रोज़ेक्ट के बारे में थी, जिसमे बताया गया था कि वेब क्या हैं और इसका उपयोग कैसे करते हैं। अगर आप इस पहली वेबसाइट को देखना चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करके देख सकते हैं।

टिम बर्नर्स ली ने वेब को बनाने के आलावा एक और महान काम किया तथा वो था वेब का पेटेंट ना लेकर । CERN ने उसने कहा भी कि आप अपनी वेब तकनीकी का पेटेंट करा लीजिये लेकिन उन्होंने मना कर दिया। यदि टिम ने वेब का पेटेंट कराया होता तो आज किसी भी वेबसाइट से जानकारी प्राप्त करने के लिए हमे पैसे चुकाने पड़ते।

टिम ने हमेशा यही चाहा कि वेब सबके लिए खुला हो तथा इसका अधिक से अधिक प्रसार हो सके। अगर टिम ने वेब को चलाने की कीमत ली होती, तो ना जाने कितने लोग पैसे ना देने के कारण इसका इस्तेमाल नहीं कर पाते तथा महत्वपूर्ण जानकारियों से अवगत नहीं हो पातें।

वेबसाइट क्या हैं (What is Website in Hindi)

एक वेबसाइट बहुत सारे वर्ल्ड वाइड वेब पेजों ( या web pages) का संग्रह होता हैं जिसे किसी व्यक्ति, कम्पनी, शैक्षिक संस्थान, सरकार या किसी समूह द्वारा इन्टरनेट पर उपलब्ध कराया जाता हैं। किसी भी वेबसाइट का एक अलग डोमेन नाम होता जो किसी ना किसी सर्वर पर प्रकाशित होता हैं।

इन्टरनेट पर कई सारी प्रसिद्ध वेबसाइट मौजूद हैं जैसे कि google.com, wikipedia.org, bing.com, आदि। इन सभी बड़ी साइट्स पर रोज करोड़ो लोग कुछ ना कुछ जानकारी खोजने आते हैं।

कोई भी वेबसाइट किसी विशेष विषय को ध्यान में रखकर बनायीं जाती हैं। कोई वेबसाइट किसी को ज्ञान प्राप्त कराने के लिए बनायीं जा सकती है, तो कोई किसी को कुछ बेचने की लिए।

इन वेबसाइट्स पर पहुचने के लिए हमे किसी उपकरण की जरुरत होती है जैसे कि मोबाइल, लैपटॉप, टेबलेट आदि। इन उपकरणों में इन्टरनेट की उपलब्धता होनी चाहिए तभी हम साईट पर जाकर कुछ खोज सकते हैं।

वेबसाइट के प्रकार (Types of website in hindi)

Website kaise banaye जानने के साथ-साथ हमे यह भी जानना चाहिए कि वेबसाइट कितनी तरह की होती हैं। इस से हमे यह फायदा होगा कि जब हम साईट बनायेंगे तब वैसी ही साईट बना सकेंगे जैसी हमे चाहिए होगी।

तो आइए जानते हैं भिन्न-भिन्न प्रकार की वेबसाइट के बारे में –

1. व्यापारिक वेबसाइट (E-commerce websites)

ई-कॉमर्स या व्यापारिक वेबसाइट एक तरह की ऑनलाइन ख़रीदारी करने का स्थान होती हैं जहाँ से कोई भी व्यक्ति आपकी कंपनी का उत्पाद या सेवा ख़रीद सकता हैं।

एक बढिया से डिज़ाइन किया गया ई –कॉमर्स वेब पेज उत्पाद को खोजना, कैटेगरी के अनुसार उत्पाद को चुनना तथा उत्पाद को बेचना आसान बनाता हैं।

इस प्रकार की वेबसाइट केवल खरीदने और बेचने के उद्देश्य से बड़ी कंपनियों द्वारा बनायीं जाती हैं। आपने बहुत सी प्रसिद्ध व्यापारिक साइट्स देखी होगी जो इस क्षेत्र में बहुत नाम कमा रही हैं जैसे अमेज़न, फ्लिप्कार्ट, ईबे आदि।

यदि आप भी ऐसे ही कोई बड़ी साईट बनाना चाहते हैं तो इसके लिए या तो आपको कोडिंग भाषा आनी चाहिए या फिर आपके पास इतना पैसा हो की किसी से ऐसी वेबसाइट बनवा सके । इतने बड़े ई-कॉमर्स स्टोर को बनाना ही काफी नहीं होता, इसको व्यवस्थित रखना भी बहुत जरुरी होता हैं, इसके लिए हमे कई लोगो की जरुरत होगी जो ऑनलाइन मार्केटिंग के क्षेत्र में कार्यरत हो।

तो आपने देखा एक अपना Amazon, या Flipcart के जैसा व्यापारिक स्टोर बनाना कितना मुश्किल काम हैं।

अब इसका मतलब यह नहीं कि हम अपने इस प्रकार की वेबसाइट नहीं बना सकते। ऐसे बहुत सारे प्लेटफॉर्म्स है जिनकी सहायता से हम ई-कॉमर्स साईट आसानी से बना सकते हैं तथा हमे इसकी ठीक से देखभाल करने की सिरदर्दी भी नहीं लेनी होगी। सबकुछ इन प्लेटफॉर्म्स के द्वारा संचालित होगा ।

अगर आप भी कोई सामान बेचना चाहते हैं तो कुछ नामी प्लेटफॉर्म्स जैसे Shopify तथा Squarespace की सहायता से अपना व्यवसायिक स्टोर खोल सकते हैं एवम अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

इन प्लेटफॉर्म्स पर अपनी वेबसाइट बनाने के लिए हमे हर महीने कुछ पैसे इनकी सेवा लेने के बदले देने होते हैं। कोई भी सामान बेचने के लिहाज़ से इस तरह की ई-कॉमर्स साईट अच्छी होती हैं।

2. मैगज़ीन वेबसाइट

एक मैगज़ीन वेबसाइट में आर्टिकल्स, फ़ोटो, वीडियोस के माध्यम से लोगो को जानकरी तथा शिक्षा प्रदान की जाती हैं।

यह एक तरह की न्यूज़ वेबसाइट होती है जहाँ हमे हाल ही में हुई बढ़ी घटनाओ को भी सम्मलित करना होता है इसके आलावा भी नयी जानकारियो को दुनिया के सामने लाना पड़ता हैं।

पिछले कुछ बर्षो में, मैगज़ीन का उद्योग पेपर पर प्रिंट होने से तरक्की करके डिजिटल क्षेत्र की और ज्यादा बढ़ा है।

यदि आप एक मैगज़ीन वेबसाइट बनाने की सोच रहे है तो पहले बुनयादी फ्रेमवर्क तैयार करे। अगर हम बुनयादी रूप से जानते है कि मैगज़ीन का उद्योग कैसे काम करता हैं तभी जाकर हम इस कार्य में सफल हो सकते हैं।

3. पोर्टफ़ोलियो वेबसाइट

एक पोर्टफ़ोलियो वेबसाइट एक ऐसी साईट है जहाँ पर रचनात्मक शैली के व्यक्तिओ का सबसे अच्छा कार्य प्रदशित किया जाता हैं।

इस प्रकार की वेबसाइटस कलाकारों, लेखकों, डिज़ाइनरस, फ़िल्मी क्षेत्रो के लोगो, फर्नीचर बनाने वालो के लिए तथा किसी भी रचनात्मक कार्य करने वालो के लिए बहुत मददगार होती हैं।

यदि आप भी अपना ऑनलाइन पोर्टफ़ोलियो बनाने की सोच रहे हैं तो यह जरुरी नहीं है कि आप अपने द्वारा किया गया छोटा से छोटा कार्य वहाँ दिखाए। आप सिर्फ उन कार्यो को अपनी पोर्टफ़ोलियो वेबसाइट में सम्मलित करे, जिनमे आपको सबसे अच्छा फायदा हुआ हैं।

मान लो आप एक वेबसाइट डिज़ाइनर है जो बहुत अच्छी वेबसाइट बनाना जानता है, तब आप अपनी इस कुशलता को एक पोर्टफ़ोलियो साईट बनाकर दिखा सकते हैं।

हमारा कोई भी व्यवसाय है हम ऑनलाइन पोर्टफ़ोलियो की सहायता से उसे प्रसिद्ध कर सकते हैं तथा उस काम को करने के बदले अच्छी कीमत ले सकते हैं।

4. लैंडिंग पेज (Landing Pages)

लैंडिंग पेज एक तरह का विशेष पेज होता है जिसे मार्केटिंग अभियान के तहत तैयार किया जाता है। ताकि इस पेज पर आने वाला व्यक्ति कुछ ना कुछ खरीदने के लिए कदम उठाये जिस से मार्केटर को फायदा हो सके।

लैंडिंग पेज कोई साधारण सी हिंदी वेबसाइट की तरह नहीं होता कि आपने एक टॉपिक लेकर उसके बारे में बहुत कुछ लिख दिया। इस पेज पर बहुत सीमित जानकारी दी होती हैं जो पाठको को कुछ खरीदने पर विवश करती हैं।

यदि हम ऐसा लैंडिंग पेज बनाने में कामयाब हो जाते है जो लोगो को सामान खरीदने के लिए विवश करता है तो ऐसा पेज बहुत बेहतर रहेगा।

कोई भी इन्सान Shopify की सहायता से शुगमता से एक लैंडिंग पेज तैयार कर सकता हैं तथा अच्छा कंटेंट लिखकर लोगो को आकर्षित कर सकता हैं।

5. ब्लॉग

ब्लॉग को हम नियमित रूप से अपडेट होने वाली वेबसाइट कह सकते हैं। इसमें आर्टिकल्स, तस्वीरों, वीडियोस आदि का सम्मेलन होता है।

हम किसी भी विषय पर एक ब्लॉग तैयार कर सकते हैं। अगर हमारी दिलचस्पी खाना बनाने में है तो इस पर भी एक ब्लॉग बनाया जा सकता है।

ब्लॉग बनाना पैसे कमाने का बहुत बढ़िया और आसान साधन है बस आपको पता हो कि इसे अच्छे से कैसे बनाते है। ब्लॉग के कार्य को ब्लॉगिंग कहते है।ब्लॉगिंग करने में खर्चा बहुत ही कम आता है इसलिए इसे कोई भी बना सकता है एवम पैसे कमा सकता हैं।

हमने यहाँ पर कुछ ही महत्वपूर्ण वेबसाइटस के बारे में वर्णन किया हैं आप चाहे तो और भी कई प्रकार की साईट बना सकते हैं।

वेबसाइट बनाने के फायदे (Benefits of creating a website in hindi)

आजकल हर छोटे से छोटे और बड़े से बड़ा काम इन्टरनेट की सहायता से होने लगा हैं। तो हर इन्सान जो पैसा कमाना चाहता है उसके लिए यह बहुत जरुरी हो गया है कि वे इन्टरनेट का उपयोग बेहतर तरीके से करे। ऐसा करने के लिए आवश्यक है कि हम कोई वेबसाइट बनाये, चाहे वेबसाइट बनाने का तरीका कोई भी हो।

वेबसाइट बनाना बेहद आवश्यक है ताकि हम भी हमारे प्रतियोगी का मुकाबला इस इंटरनेट के संसार में कर सके।

आइये जानते हैं कुछ और फायदे जो साईट रखने के कारण हमे प्राप्त होते हैं –

i. ऑनलाइन उपलब्धता 24/7

एक वेबसाइट होने का मतलब हैं कि ग्राहक आपसे कभी भी, कही भी, तथा किसी भी समय संपर्क कर सकते हैं या आपके उत्पाद या सेवा का फायदा उठा सकते हैं।

यदि यह आपके काम करने का वक्त भी नहीं है तब भी उस समय आपकी वेबसाइट नए ग्राहकों को आकर्षित करती हैं तथा उन्हें इच्छा अनुसार परिणाम दिखाने में लगी रहती हैं।

एक वेबसाइट का होना लोगो को सुविधा देता है कि वे अपने आराम के अनुसार कभी भी अपने घर बैठे बिना खरीदने की चिंता करे जानकारी प्राप्त कर सकते है।

आपने देखा होगा जब हम किसी स्टोर पर कुछ खरीदने जाते है यदि हमे कुछ अच्छा भी ना लगे तब भी कुछ ना कुछ छोटी चीज़ खरीद लेते है ताकि कोई कुछ ना सोचे। अगर हम किसी साईट से कुछ खरीदते है तो हमे ना किसी की सोच की चिंता करनी है और ना खरीदारी करने की लिए अच्छे से तैयार होने की।

हमे कोई भी अपनी मनपसंद चीज़ खरीदने के लिए किसी मॉल के खुलने का इन्तेजार नहीं करना, यदि हम वेबसाइट का सहारा लेते है क्योंकि साइट्स 24 घंटे खुली ही रहती है।

इस से एक साईट रखने वाले को यह फायदा होता है कि वह लोगो को हर समय जानकारी प्राप्त करा सकता है। यदि हमारी एक ख़रीदारी वाली वेबसाइट है तो यह हर समय उपलब्ध रहेगी जिसके कारण ग्राहक कभी भी, कही से भी खरीद सकते है जिस से हमारी बिक्री काफ़ी बढ़ जाएगी।

ii. विश्वसनीयता

इस तकनीक से भरे संसार में हर कोई एक प्रसिद्ध कम्पनी से उम्मीद रखता है कि उसकी ऑनलाइन उपस्तिथि अवश्य होगी। अगर आपका कोई बिज़नस हैं तथा ग्राहकों के आपसे या कंपनी के कर्मचारियों से जानकारी लेने के लिए कोई भी टेलीफोन या स्थायी पता नहीं है तो लोगो का विश्वास आपकी कंपनी पर कम हो जायगा।

ऐसे ही अगर इस इन्टरनेट की दुनिया में हमारी कोई वेबसाइट या ईमेल नहीं तो भी लोगो का विश्वास हम पर अधिक नहीं होगा तथा वो हमसे जुड़ना नहीं चाहेंगे।

वेबसाइट और ईमेल का उपयोग आजकल बेहद महत्वपूर्ण माध्यम बन गया है अपने व्यवसाय के बारे में लोगो को अवगत कराने का।

यदि आप किसी रचनात्मक कार्य से भी जुड़े है तो भी आपकी साईट होनी चाहिए। साईट होने से लोग आप पर भरोसा करेंगे तथा आपको अधिक से अधिक काम मिलेगा, जिस से ज्यादा कमाई होगी।

यह बहुत ही ज्यादा जरुरी है कि हमारी एक वेबसाइट हो जिस पर हमारे व्यवसाय के बारे में जानकारी हो ताकि ग्राहकों को कंपनी के बारे में कही ओर से जानने का प्रयास ना करना पड़े।

iii. जानकारी का आदान-प्रदान

एक वेबसाइट का सबसे मुख्य : काम जानकारी को खरीदने और बेचने वालो के बीच में आसानी से पहुचाने का होता हैं।

हम वेबसाइट पर अपने कार्य के बारे में पूर्ण जानकारी दे सकते हैं ताकि कोई भी हमारी कुशलता को जान सके तथा हमसे संपर्क कर सके।

यदि हमारी कोई कंपनी है, हम उस वेबसाइट पर कंपनी के खुलने का समय, संपर्क करने की जानकारी, व उतपाद के बारे में भी लिख सकते हैं।

iv. खर्चे में कमी करता हैं।

अगर आपके पास एक अच्छी तरह से डिजाईन हुई वेबसाइट है तो उस से आप सीधे अपने ग्राहकों को उत्पाद और सेवा बेच सकते हैं।

मान लो आपका एक व्यवसाय है जिसमे आप किसी उत्पाद को बेचने पर धन कमाते हो। जाहिर सी बात हैं कि आपको सामान बेचने के लिए एक दुकान की आवश्यकता होगी जिसमे काफी खर्चा होगा । यदि आपके पास वेबसाइट है तो आपको कोई दुकान लेने की जरुरत नही, आपसे ग्राहक वेबसाइट के माध्यम से सामान खरीद लेंगे। इस से आपके काफी पैसे बच जायेंगे।

वेबसाइट होने के कारण हमे सामान रखने के लिय ना कसी दुकान की जरुरत पड़ेगी, और ना उस सामान को बेचने के लिए कर्मचारियों की, जिसके कारण हमारा खर्चा बहुत कम हो जाएगा।

v. हुनर या व्यवसाय का हर जगह फैलाव

जैसे की हम जानते है हमारी वेबसाइट को दुनिया में किसी भी जगह बैठा हुआ इन्सान देख सकता हैं। तब यह भी सच होगा की हमारी वेबसाइट से दुनिया में कही भी रहने वाला व्यक्ति ख़रीदारी कर सकता है।

यदि आपके पास कोई हुनर है जैसे कि कोई विशेष शिक्षा, वेबसाइट डिजाईन करना आदि तो आप एक साईट बनाकर या बनवाकर उसकी सहायता से अपना ज्ञान कही तक भी पंहुचा सकते हैं।

कभी हो सकता कि किसी एक हुनर की हमारे देश में उतनी मांग ना हो जितनी किसी और देश में हो। ऐसे स्तिथि में हम साईट से उन देशो के लोगो के लिए काम करके बहुत अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

यहाँ हमने जाना कि एक वेबसाइट बनाना हमारे लिए किस तरह से फायदेमंद हो सकता हैं। हमने यहाँ पर वेबसाइट को बनाने के कुछ ही फायदो के बारे में बताया है इनसे भी बहुत अधिक फायदे है जो आप उठा सकते हैं।

वेबसाइट कैसे बनाये | Website kaise banaye

हमने जान लिया है कि वेबसाइट क्या होती है और इसे बनाना इतना आवश्यक क्यों हैं। अब हम जानते है की शुगमता से वेबसाइट कैसे बनाये या कैसे बनाते हैं ?

सामान्यता वेबसाइट बनाने के दो तरीके ज्यादा प्रयोग में आते हैं ये 2 तरीके हैं –

पहला – कोडिंग द्वारा वेबसाइट बनाना
दूसरा – CMS द्वारा वेबसाइट बनाना

1) कोडिंग द्वारा वेबसाइट बनाना

Coding एक कंप्यूटर की भाषा होती है जिसका प्रयोग कंप्यूटर में चलने वाले सॉफ्टवेर को डिज़ाइन करने के लिए किया जाता हैं। कुछ कोडिंग भाषा है जैसे – Python, Java, JavaScript, C++ आदि।

अब सभी के लिए इन कंप्यूटर की भाषाओं की जानकारी रखना मुमकिन नहीं हैं। जिस व्यक्ति ने कोडिंग भाषा की पढाई की है, या जिसने ये भाषाए सीखी हो वो तो कोडिंग करके एक वेबसाइट बना लेगा। मगर जिसको कोडिंग का ज्ञान ना हो उसके लिए ऐसा करना मुमकिन नहीं होगा।

ऐसे में एक काम यह किया जा सकता हैं कि आप किसी वेबसाइट डिज़ाइनर से अपने लिए एक बढ़िया सी साईट बनवा सकते हैं। परन्तु इसमें खर्चा काफी आने वाला है और हमारे लिए किसी अच्छे साईट डिज़ाइनर को ढूँढना भी आसान नहीं होने वाला है।

इस प्रकार की साईट के रख-रखाव में भी काफी खर्च आता है। इसलिए अच्छे से ऐसे साईट बनवाने की निर्णय ले।

अगर आप इस तरह से वेबसाइट ना बनाकर एक शुगम और कम खर्च में साईट बनाना चाहते है तो अगला तरीका आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता हैं।

2) CMS द्वारा वेबसाइट बनाना।

CMS को Content Management System भी कहते हैं। CMS एक साधन होता हैं जिसकी सहायता से आप शुगमता से वेबसाइट बना सकते हैं। इस तरह से बनी गई वेबसाइट को ब्लॉग भी कहते हैं।

जब आप सीएमएस की सहायता से ब्लॉग या वेबसाइट बनाते हैं तो आपको कोई भी कोडिंग भाषा की जानकारी होने की आवश्यकता नहीं हैं।आप आसानी से बिना ज्यादा तकनीकी ज्ञान के एक अच्छी वेबसाइट बना सकते हैं और उससे अपने कार्य के लिए फायदा उठा सकते हैं।

आजकल बहुत सारे CMS मौजूद है जैसे WordPress, Wix, Joomla इत्यादि।

मै आपको किसी एक CMS की सहायता से वेबसाइट कैसे बनाते है, यह बताऊंगा। तो आइये जानते है WordPress से एक साईट कैसे बनाते हैं।

  • वर्डप्रेस पर वेबसाइट बनाने के लिए सबसे पहले हमे एक डोमेन नाम की जरुरत पड़ेगी। डोमेन नाम एक अलग सा नाम होता है जो हमारी साईट की पहचान होती हैं। डोमेन नाम लेने से पहले हमे अपना विषय भी ध्यानपूर्वक चुन लेना चाहिए, जिस पर हम साईट बनाना चाहते हैं। हमेशा ध्यान रखे कि उस विषय से ही मिलता जुलता नाम चुने।
  • डोमेन नाम खरदीने के बाद नंबर आता है होस्टिंग खरीदने का। होस्टिंग एक तरह की आपकी साईट की जगह होती हैं जहाँ पर आपके द्वारा साईट पर दी गई सभी जानकारी सुरक्षित रहती हैं।
  • होस्टिंग खरीदने के बाद हम होस्टिंग अकाउंट पर वर्डप्रेस को इनस्टॉल करते हैं। इसमें मुश्किल से 1-2 मिनट का समय लगता है। हमेशा बेहतर होस्टिंग ख़रीदे ताकि आपको आगे चलकर दिक्कत का सामना ना करना पड़े।
  • वर्डप्रेस इंस्टाल करने के बाद एक अच्छी सी थीम चुनते है तथा उस को अच्छे से डिजाईन करते हैं। थीम हमेशा हल्की ही चुने। कुछ हल्की थीम की अगर बात करे तो आप GeneratePress, Astra, या Neve जैसे कोई थीम अपनी वेबसाइट के लिए चुन सकते हैं ।
  • वर्डप्रेस में अच्छे से ब्लॉग बनाने के बाद आप अपनी साईट पर अपने ग्राहकों या पाठको के लिए जानकारी प्राप्त करा सकते हैं।
  • अपने ग्राहकों को जानकारी प्राप्त कराना तभी सम्भव होगा, जब हमारी साईट सर्च इंजन में ऊपर रैंक करे। और ऐसा करना SEO से ही मुमकिन है।

SEO के बारे में जानने के लिए आप नीचे दी गई SEO की इस पोस्ट को जरूर पढ़े।

SEO क्या है और यह blog के लिए क्यों जरुरी हैं।

FAQ

सवाल – वेबसाइट का क्या अर्थ हैं?

जबाब – एक वेबसाइट बहुत सरे वेब पेजो का संग्रह होती हैं जिसे किसी व्यक्ति, संगठन या कंपनी द्वारा किसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर बनाया जाता हैं।

सवाल – क्या फेसबुक एक वेबसाइट हैं?

जबाब – फेसबुक एक बहुत बड़ी वेबसाइट हैं जिस पर करोड़ो लोग एक दिन में विजिट करते हैं ।

सवाल – क्या गूगल एक वेबसाइट हैं ?

जबाब – हाँ, गूगल एक वेबसाइट हैं। गूगल इस संसार की सबसे ज्यादा सर्च की जाने वाली वेबसाइट हैं।

सवाल – वेबसाइट की क्या आवश्यकता हैं ?

जबाब – आज का युग इन्टरनेट का युग हैं। ज्यादातर लोग अब कोई जानकारी प्राप्त करने के लिए या कुछ खरीदने व बेचने के लिए इन्टरनेट का उपयोग करते हैं। इसलिए आवश्यक हैं कि हमारी एक वेबसाइट हो जिसकी सहायता से हम भी इन्टरनेट पर लोगो को जानकारी प्रदान करे सके एवं कोई भी सामान किसी को भी कही भी बेच सके तथा पैसे कमा सके।

सवाल – वेबसाइट का पता क्या हैं ?

जबाब – किसी भी वेबसाइट का पता वह नाम होता हैं जिसे द्वारा हम उस वेबसाइट पर पहुँचते हैं। जैसे की इस साईट का डोमेन नाम theinfoexpert.com हैं तब इस वेबसाइट का पता www.theinfoexpert.com हुआ।

आज हमने क्या जाना ? –

Website in hindi की इस पोस्ट में हमने जाना कि साधारण प्रयास से website kaise banaye तथा वेबसाइट बनाने के क्या फायदे हैं?

हमने वेबसाइट बनाने के दो साधारण तरीको का वर्णन किया आप किसी भी तरीके को अपनी योग्यता के अनुसार वेबसाइट बनाने के काम में ला सकते हैं। हमे आशा है कि इस पोस्ट को पूरा पढकर आपको भली-भांति ज्ञात हो गया होगा कि apni website kaise banaye कम से कम खर्च में।

हमने आपको सम्पूर्ण जानकारी देने का भरसक प्रयास किया है अगर फिर भी कोई कमी रह गयी हो या आपको कुछ और जानना को तो कमेंट करके अवश्य पूछे। यदि आपको हमारा यह आर्टिकल थोडा भी ज्ञान प्राप्त करने वाला लगा हो, तो इसे अपने दोस्तों व परिचितों के साथ साझा करना ना भूले।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *