8 चमत्कारिक जौ के पानी के फायदे | Jau Ke Pani Ke Fayde

जौ के पानी के फायदे (Jau Ke Pani Ke Fayde) जौ के पानी के नुकसान, जौ का पानी बनाने की विधि (Side Effects of Barley Water in Hindi, Benefits of Barley Water in Hindi)

barley-water-benefits-jau-ke-pani-ke-fayde-upyog-uses-nuksan-in-hindi
जौ के पानी के फायदे – Barley in Hindi

आपमें से कई ने गेहूँ जैसे दिखने वाले अनाज जौ का सेवन अवश्य किया होगा. जौ का नियमित इस्तेमाल करना हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी होता है. हम में से कई व्यक्तिओं ने जौ का दलीय के रूप में एवं इसके आटा की रोटी के रूप में खाया होगा लेकिन इनके साथ ही जौ के पानी के भी बहुत फायदे है. आइये जानते है जौ के पानी के फायदे एवं जौ का पाने बनाने की विधि के बारे में –

जौ का पानी क्या होता है। (Barley Water in Hindi)

जौ का पानी जौ से तैयार किया जाता है। जौ के पानी को बनाने के लिए जौ को अच्छी तरह धूल कर चार-पांच घंटे के लिए पानी में भिगोकर और उबालकर व धीमी आंच पर एक घंटा पकाया जाता है उसके बाद जौ का पानी तैयार होता है।

इसके पानी के सेवन से बैड कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय रोगों से बचाव किया जा सकता है। क्योंकि उसमें काफी सारे विटामिंस और पोषक तत्व पाए जाते हैं। अगर आप रोजाना दो गिलास जौ के पानी का सेवन करेंगे तो आप कई गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं।

जौ का पानी भारत ही नहीं बल्कि कई देशों में तैयार किया जाता है और इसका सेवन भी किया जाता है जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक है।

जौ की जानकारी के लिए तालिका –

अनाज जौ
वैज्ञानिक नाम Hordeum Vulgare (होर्डियम वलगेयर)
अंग्रेजी नाम Barley (बार्ले)
परिवार घास (Poaceae)
जौ की बनावट व रंग हलके भूरे रंग के गेहूँ से पतले
अधिक पैदावार करने वाले देश रूस, जर्मनी, फ्रांस, यूक्रेन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा
भारत में जौ के उत्पादक प्रदेश उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, मध्य प्रदेश, हरयाणा,बिहार

जौ के पानी में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Nutrients)

जौ एक अनाज है जिसका सेवन हम जैसे चाहे वैसे कर सकते हैं जैसे कभी रोटी के रूप में, तो कभी दलिया के रूप में और कभी इससे पानी बनाकर उसे भी हम सेवन करते हैं जो हमारे लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है।

जौ का पानी मिनरल्स से भरा हुआ होता है। इसमें सल्फर, मैग्नीशियम और कैल्शियम पाया जाता है, यह सभी पोषक तत्व हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। क्योंकि मिनरल्स युक्त पानी पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इनके अलावा भी इसमें कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

इस पानी में बहुत सारे अन्य औषधीय गुण भी होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने में मददगार साबित होते हैं।

नीचे एक तालिका रेखांकित की गयी है जिसमे दिखाया गया है कि कुल 100 ग्राम जौ में कितनी मात्रा में कौन-सा पौषक तत्व मौजूद रहता है। 100 ग्राम जौ के बीज में कुल 354 कैलोरी उपलब्ध रहती है।

पौषक तत्व मात्रा (ग्राम में)
प्रोटीन 12.5
कार्बोहाइड्रेट्स73.5
फाइबर 17.2
वसा2.3
आयरन 0.0036
कैल्शियम 0.033
मैग्नीशियम 0.133
फॉस्फोरस 0.264
पोटेशियम 0.452
सोडियम 0.012
मैंगनीज0.0019

जौ में मौजूद अन्य पौषक तत्व है विटामिन B, नियासिन (विटामिन B3), पायरीडोक्सिन (विटामिन B6), थायमिन (विटामिन B1) आदि.

जौ के पानी के उपयोग (Uses of Barley Water in Hindi)

जौ के पानी में काफी सारे पोषक तत्व होने के कारण यह हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा उपयोगी है। आइए हम इसके उपयोग आपको बताते हैं –

  • किडनी से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं में जौ का पानी बहुत ज्यादा कारगर सिद्ध होता है।
  • इसमें मौजूद बीटा ग्लूकेन शरीर से गलत पदार्थों को मल द्वारा बाहर निकालने में मदद करता है और कब्ज भी नहीं होने देता।
  • इससे शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है डायबिटीज के रोगियों के लिए यह बहुत फायदेमंद है।
  • इम्यूनिटी को बढ़ाएं
  • वजन घटाने में जौ के पानी का उपयोग करना बहुत लाभकारी है.
  • एनीमिया या खून की कमी को जौ के पानी के नियमित सेवन करने से दूर किया जा सकता है.
  • उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए
  • पथरी के लिए
  • ब्लड ग्लूकोस को कम करने मे सहायक

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > चिया बीज ऐसे खाए, बीमारी चुटकियों में दूर भगाए

जौ का पानी पीने के फायदे (Jau Ke Pani Ke Fayde)

जौ का पानी पीने से सेहत और स्वास्थ्य में कई फायदे होते हैं क्योंकि इसमें बहुत सारे विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं। इसीलिए इसके हमारे जीवन में कई फायदे हैं जो इस प्रकार हैं –

1. हृदय स्वास्थ्य के लिए

इसमें बीटा ब्लू केन नाम का एक पोषक तत्व पाया जाता है जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय को स्वस्थ रखने में सहायक होता है और ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है।

2. गर्भवती के लिए

गर्भवती के लिए जौ का पानी बहुत ही लाभकारी है क्योंकि इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम और सल्फर पाया जाता है। यह पोषक तत्व गर्भवती के आहार में मौजूद होना बहुत ज्यादा आवश्यक है जिससे गर्भस्थ शिशु स्वस्थ रहे।

3. वजन घटाने में सहायक

इसके सेवन से बढ़ते वजन को नियंत्रित किया जा सकता है क्योंकि इसमें मौजूद बीटा ब्लू केन भूख को नियंत्रित करने का काम करता है जिससे हम उचित मात्रा में ही भोजन को ग्रहण कर पाते हैं और हमारा वजन नियंत्रित रहता है।

4. इम्यूनिटी को बढ़ाये

जौ का पानी हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता या इम्यूनिटी को बढ़ाने में सहायक होता है। इसमें कहीं ऐसे गुण होते हैं जो हमारे शरीर की इम्यूनिटी को नियंत्रित रखते हैं।

5. एनीमिया के रोगियों के लिए लाभकारी

यह एक औषधि होने के कारण एनीमिया के रोगियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है इसके रोजाना इस्तेमाल से एनीमिया के रोगियों को स्वस्थ किया जा सकता है।

6. ब्लड ग्लूकोस को कम करने में सहायक

जौ का पानी ब्लड ग्लूकोस को कम करने में सहायक होता है अगर हमारा ब्लड ग्लूकोस नियंत्रित रहेगा तो शरीर में मौजूद धमनिया और कोशिकाएं भी अपना काम सही तरीके से कर पाएंगे।

7. ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए

यदि ब्लड प्रेशर के रोगी इसके पानी का सेवन करते हैं तो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित किया जा सकता है। अगर हमारा ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहेगा तो ह्रदय भी स्वस्थ रहेगा।

8. पथरी के लिए फायदेमंद

जौ के पानी में मौजूद गुणों से पथरी का इलाज भी किया जा सकता है। एनसीबीआई की एक रिसर्च में कहा गया है कि जौ पित्त की पथरी से बचाव करता है इसमें मौजूद फाइबर वाइल एसिड के प्रोफाइल को सुधार कर पित्त की पथरी से बचाव करता है।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > जौ की रोटी खाने के फायदे एवं नुकसान

जौ के पानी के नुकसान (Side Effects of Barley Water in Hindi)

जहां एक ओर जौ का पानी पीने से हमें काफी सारे फायदे होते हैं वहीं दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारे में हम आपको आगे बताते हैं –

  • इसलिए अधिक सेवन से किडनी संबंधी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
  • इसमें मौजूद ग्लूटेन के कारण एलर्जी संबंधित समस्या भी हो सकती है।
  • इसमें हाइपोग्लाइसेमिक के कारण ग्लूकोस लेवल कम हो सकता है।
  • इसके अधिक सेवन से शरीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा भी बढ़ सकती है। जो शरीर के लिए नुकसान दायक है।
  • डायबिटीज के रोगियों को जौ के पानी का सेवन डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए नहीं तो नुकसान भी हो सकता है।

जौ का पानी बनाने की विधि (कैसे तैयार करें जौ का पानी)

जौ के पानी को तैयार करना बहुत ही आसान है। आपको एक से 2 छोटी चम्मच साफ़ जौ लेनी है तथा इन्हें 3 से 4 घंटे के लिए पानी में भिगोने के लिए रख देना है। इसके बाद आपको लगभग 4 कप पानी को किसी बर्तन में गर्म करने के लिए गैस पर रख देना है तथा उसमे भीगी हुई सौफ को पानी से लाग करके दाल देना है।

कम से कम आधा घंटा या जब तक 4 कप पानी सिर्फ 2 कप न रह जाए तब तक आपको पानी को उबलने देना है। अब इस 2 कप पानी को ठंडा होने दीजिये जिसके बाद आप जौ के पानी का सेवन करे सकते है। आप प्रतिदिन इस जौ का पानी बनाने की विधि का करके अपने लिए पानी बना सकते है।

👉 क्या आपने यह पोस्ट पढ़ी > भागं के बीज खाने के फायदे सुनकर चौक जायेंगे आप

FAQ (सवाल-जबाब)

जौ का पानी कब पीना चाहिए?

जौ के पानी को सुबह पीने के कई लाभ है। इसमें मौजूद पौषक तत्व शरीर को कई फायदे देते है तथा शरीर में मौजूद विषैले तत्वों को बाहर निकालते है।

जौ में क्या पाया जाता है?

जौ में कई महत्वपूर्ण पौषक तत्व जैसे – आयरन, कैल्शियम, विटामिन- बी काम्प्लेक्स, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक तथा प्रोटीन आदि प्रचुर मात्रा में पाये जाते है।

जौ का पानी पीने से क्या साइड इफेक्ट होते हैं?

चूँकि जौ में फाइबर अधिक मात्रा में होता जौ पाचन सम्बन्धित रोग में बहुत लाभकारी होता है। इसका गलत एवं अधिक सेवन करने से कब्ज, एलर्जी एवं ग्लूकोस लेवल कम होने की समस्या हो सकती है।

ध्यान देने योग्य

इस पानी के लाभ की वजह से इसे अपने दैनिक डाइट का हिस्सा बनाया जा सकता है बस ध्यान रखें कि इसका सेवन उचित मात्रा में ही करें। हमारे द्वारा बताई गयी बाते किसी भी आयुर्वेदिक चिकित्सक का विकल्प नहीं है, यदि आप पहले से किसी रोग से जूझ रहे हो तो जौ का पानी पीने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

आज हमने क्या जाना?

आज हमने जौ के पानी पीने के फायदों (Jau ke Pani Ke Fayde) के बारे में विस्तार से जाना। इसके आलावा हमने जौ के पानी के फायदे के साथ जौ के पानी के नुकसान, जौ का पानी बनाने की विधि के बारे में जाना। उम्मीद करते है आपको यह लेख बहुत पसंद आया होगा, अपने विचार कमेंट में बताना ना भूले।

सबसे अधिक पढ़े जाने वाले लेख

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *